हारे का सहारा तू यूं ही ना कहाया है भजन लिरिक्स

हारे का सहारा तू यूं ही ना कहाया है भजन िरिक्स
बाबा के चरणों मे योगे प्रशान्त ने अपने द्वारा लिखे भाव को नागदा (धार ) कीर्तन में प्रस्तुत किये💐
हारे का सहारा तू यु ही ना कहलाया है प्यारा भाव बाबा के चरणों मे

हारे का सहारा तू,
यूं ही ना कहाया है,
हर मुसीबत में तूने ही,
मेरा साथ निभाया है

जब पकडा मैने बिस्तर,
आके तुने संभाला है,
जब नींद ना आई मुझे,
लोरी गा के सुलाया है,
घबराहट में भी बाबा,
तुने मुझे हसाया है,
हर मुसीबत में तूने ही,
मेरा साथ निभाया है।।

मेरी इस बीमारी को,
कोई समझ ना पाया है,
जब जाँच की पर्ची में,
कुछ भी ना आया है,
ये देख के डॉक्टर का,
सर भी चकराया है,
हर मुसीबत में तूने ही,
मेरा साथ निभाया है।।

जब मन लगा घबराने,
तुने समझाया है,
हर औषध में बाबा,
तु ही नजर आया है,
‘नवयुवक’ ने जीवन में,
हर क्षण तुझको गाया है,
हर मुसीबत में तूने ही,
मेरा साथ निभाया है।।

हारे का सहारा तू,
यूं ही ना कहाया है,
हर मुसीबत में तूने ही,
मेरा साथ निभाया है।।

Watch Video song of हारे का सहारा तू यूं ही ना कहाया है भजन लिरिक्स

Leave a Reply