हार की कोई चिंता नहीं लिरिक्स – कृष्ण भगवान भजन ,श्याम जी भजन ,मोहन भजन लिरिक्स -:- Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics

श्याम बाबा का एक अद्बुध भजन :हार की कोई चिंता नहीं लिरिक्स – कृष्ण भगवान भजन ,श्याम जी भजन ,मोहन भजन लिरिक्स -:- Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics: राम कुमार लक्खा जी के द्वारा गाया हुआ है- मधुर और मीठे भक्ति से भरे भजन को। इनकी भक्ति से श्याम जी की कृपा बनी रहती है। बाबा श्याम अपने भक्तो पर Khatu Shyam Ji Bhajan Lyrics | · ‎Popular Bhajans Lyrics, खाटूवाला I Hindi English, Khatuwala I New ..श्याम नाम की मस्ती –
Beautiful Shyam Bhajan With hindi fonts and English fonts …., खाटू श्याम जी भजन लिरिक्स-खाटू श्याम भजन लिरिक्स अपना आशीर्वाद बनाये रखते है।

Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics

हार की कोई चिंता नहीं पग पग होगी जीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत,
श्याम श्याम को नगमा गाये ये जीवन संगीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

मौज से होने लगा गुजारा,
बाबा ने हर काम सवारा,
सन मुख मिलता खड़ा संवारा,
जब जब उसको मन से पुकारा,
देता नहीं विश्वाश टूटने खाटू नरेश की रीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

जब जब दुखो से घबराया,
सांवरिया सुध लेने आया,
मोह लोभ जो लगा भरमाने,
मोर छड़ी वाले ने बचाया,
ऐसा किया सँवारे ने जादू सबरा वविषये अतीर,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

सरल श्याम का घर है तुम्हारा,
हाथ पकड़ कर तूने उभारा,
गम के थपेड़ो से डोलती नैया,
बनके खिवैया कन्हैया तूने तारे,
ममता कैसा दुबेगा वो कान्हा जिसका मीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

Bhajan Lyrics in English Fonts from Bhajans.LYrics-in-hindi.com

haar kee koee chinta nahin geet

chinta kee koee chinta nahin hogee jeet,
sanvariya se prit,
shyaam shyaam ko nagama gae ye jeevan sangeet,
sanvariya se print ..

mauj se hone vaalee dava,
ne har kaam mota baaba,
sain mulaakaat sunavaara,
jab tak man sehara,
deta duniya bhar ke khaane ke lie naresh kee reet,
sanvariya se print ..

jab museebat se parichit ho,
saanvariya sudh,
moh lobh jo bharamaane,
moravaar ne,
jaadoo sanvaare ne jaadoo va vishay ateer,
sanvariya se print ..

saral shyaam ka ghar hai,
hadapane karatane ubhaara,
gam ke thapedo se dolatee naiya,
banake khivaiya kanhaiya toone taare,
maatam maatamee meet,
sanvariya se prit ..

Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics

Gujrati Bhajan Lyrics from Bhajans.LYrics-in-hindi.com (Gujrati Version)

હાર કી કોઈ ચિંતા નહિ ગીત

હારની ચિંતા નથી
લગી રે મેરી સાંવરિયા સે પ્રેમ,
શ્યામ શ્યામ નગમાએ ગાયેલું આ જીવન સંગીત,
લગી રે મેરી સાંવરિયા સે પ્રેમ..

મજા કરવા લાગી,
બાબાએ બધા કામ કર્યા,
સૂર્યનો ચહેરો ઉભા થઈને માવજત કરે છે,
જ્યારે પણ તેણે તેના હૃદયથી ફોન કર્યો,
ખાતુ નરેશના માર્ગને તોડવા વિશ્વાસ નથી આપતો,
લગી રે મેરી સાંવરિયા સે પ્રેમ..

જ્યારે પણ દુ:ખથી ડરવું,
સાવરિયા સંભાળવા આવ્યા,
મોહ, લોભ, જેનો ઉપયોગ છેતરવા માટે થતો હતો,
મોર લાકડીવાળાએ બચાવ્યો,
તેથી માવજત જાદુ કર્યો,
લગી રે મેરી સાંવરિયા સે પ્રેમ..

સરલ શ્યામનું ઘર તારું,
તમારો હાથ પકડીને, તમે તેને ઊંચો કર્યો,
નયા ગમના ગળા સાથે ડોલતી,
બાંકે ખિવૈયા કન્હૈયા, તું તો તારો,
મમતા કેવી રીતે દુબેગા કરશે તે કાન્હા જેની મીઠાશ,
લગી રે મેરી સાંવરિયા સે પ્રેમ..

Bhojpuri Bhajan Lyrics from Bhajans.LYrics-in-hindi.com ( Bhojpuri Version)

हार की कोई चिंता नाही गीत

हार के कवनो चिंता नइखे
लागी रे मेरी सावरिया से लव,
श्याम श्याम नागमा जी के गावल ई जीवन संगीत,
लागी रे मेरी सावरिया से लव..

मस्ती करे लागल,
बाबा सब काम कइले,
सूरज चेहरा खड़ा होके संवारल जाला,
जब भी मन से पुकारत रहले,
खाटू नरेश के रास्ता तोड़े खातिर विश्वास ना देला,
लागी रे मेरी सावरिया से लव..

जब-जब दुख से डेरात बानी,
सावरिया सम्हारे आइल,
मोह, लालच, जवना के धोखा देवे खातिर इस्तेमाल कईल जात रहे,
मोर के लाठी वाला बचा लिहलस,
त संवारन के जादू भी भइल,
लागी रे मेरी सावरिया से लव..

सरल श्याम के घर तोहार बा,
हाथ पकड़ के, तू ओकरा के उठवले बाड़ू,
गम के क्रोध से डोलत नया,
बनके खिवईया कन्हैया, तू तारा बाड़ू,
ममता कइसे दुबेग करीहें ऊ कान्हा जिनकर मिठास,
लागी रे मेरी सावरिया से लव..

Punjabi Bhajan Lyrics from Bhajans.LYrics-in-hindi.com (Punjabi Version)

ਹਾਰ ਕੀ ਕੋਈ ਚਿੰਤਾ ਨਹੀਂ ਬੋਲ

ਹਾਰ ਦੀ ਕੋਈ ਚਿੰਤਾ ਨਹੀਂ
ਲਾਗੀ ਰੇ ਮੇਰੀ ਸਵਾਰੀਆ ਸੇ ਪਿਆਰ,
ਸ਼ਿਆਮ ਸ਼ਿਆਮ ਨਗਮਾ ਦੁਆਰਾ ਗਾਇਆ ਇਹ ਜੀਵਨ ਸੰਗੀਤ,
ਲਾਗੀ ਰੇ ਮੇਰੀ ਸਵਾਰੀਆ ਸੇ ਪਿਆਰ।।

ਮਸਤੀ ਕਰਨ ਲੱਗੀ,
ਬਾਬੇ ਨੇ ਸਾਰੇ ਕੰਮ ਕੀਤੇ,
ਸੂਰਜ ਦਾ ਚਿਹਰਾ ਖੜਾ ਹੋ ਜਾਂਦਾ ਹੈ,
ਜਦੋਂ ਵੀ ਉਹ ਦਿਲੋਂ ਪੁਕਾਰਦਾ,
ਖਾਟੁ ਨਰੇਸ਼ ਦੇ ਰਾਹ ਤੋੜਨ ਲਈ ਵਿਸ਼ਵਾਸ ਨਹੀਂ ਦਿੰਦਾ,
ਲਾਗੀ ਰੇ ਮੇਰੀ ਸਵਾਰੀਆ ਸੇ ਪਿਆਰ।।

ਜਦੋਂ ਵੀ ਦੁੱਖ ਤੋਂ ਡਰਦੇ ਹਾਂ,
ਸਾਵਰੀਆ ਸੰਭਾਲਣ ਆਇਆ,
ਮੋਹ, ਲਾਲਚ, ਜੋ ਧੋਖਾ ਦੇਣ ਲਈ ਵਰਤਿਆ ਜਾਂਦਾ ਸੀ,
ਮੋਰ ਸਟਿੱਕਮੈਨ ਨੇ ਬਚਾਇਆ,
ਇਸ ਤਰ੍ਹਾਂ ਸ਼ਿੰਗਾਰ ਦਾ ਜਾਦੂ ਕੀਤਾ,
ਲਾਗੀ ਰੇ ਮੇਰੀ ਸਵਾਰੀਆ ਸੇ ਪਿਆਰ।।

ਸਰਲ ਸ਼ਿਆਮ ਦਾ ਘਰ ਤੇਰਾ,
ਹੱਥ ਫੜ ਕੇ ਤੂੰ ਉਠਾਇਆ,
ਗਮ ਦੇ ਠੋਕਰਾਂ ਨਾਲ ਨਈਆ ਹਿੱਲਦਾ,
ਬਾਂਕੇ ਖੀਵਈਆ ਕਨ੍ਹਈਆ ਤੂੰ ਤਾਰਾ,
ਮਮਤਾ ਕਿਵੇਂ ਡੁਬੇਗੀ ਉਹ ਕਾਨ੍ਹਾ ਜਿਸ ਦੀ ਮਿਠਾਸ,
ਲਾਗੀ ਰੇ ਮੇਰੀ ਸਵਾਰੀਆ ਸੇ ਪਿਆਰ।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply