हे मेरे बांके बिहारी पागल बनाया आपने भजन लिरिक्स

हे मेरे बांके बिहारी,
पागल बनाया आपने,
पागल बनाया आपने प्यारे,
पागल बनाया आपने,
हे मेरे गिरधर मुरारी,
पागल बनाया आपने।।

मै भटकता था जहां में,
कोई भी अपना ना था,
गम के आंसू पी रहा था,
भाग्य में हसना ना था,
मेरा अपना कौन पराया,
ये बताया आपने,
हे मेरे बाँके बिहारी,
पागल बनाया आपने।।

आपने ठुकराया मुझको,
तो कहां मै जाऊंगा,
दूर रहकर तुझसे प्यारे,
मैं तो जी ना पाऊंगा,
दुनिया से मेरा दिल हटा कर,
दिल चुराया आपने,
हे मेरे बाँके बिहारी,
पागल बनाया आपने।।

वृंदावन में ही बसा लो,
ये ही दिल की आस है,
दूर रहकर भी ये ‘कन्नू’,
श्री चरणों के पास है,
‘पारस’ का हर कष्ट मिटा कर,
अपना बनाया आपने,
हे मेरे बाँके बिहारी,
पागल बनाया आपने।।

हे मेरे बांके बिहारी,
पागल बनाया आपने,
पागल बनाया आपने प्यारे,
पागल बनाया आपने,
हे मेरे गिरधर मुरारी,
पागल बनाया आपने।।

Leave a Reply