आयो मेलो आज बाबा रो रूनीचा नगरी चालनो भाईडा रे

आयो मेलो आज बाबा रो,

दोहा – धोरां धरती मायने,
और बाबा रो दरबार,
रंग गुलाल उडे जटे,
भई रामदेवजी रे द्वार।

आयो मेलो आज बाबा रो,
आयो मेलो आज रे,
रूनीचा नगरी चालनो भाईडा रे,
रूनीचा नगरी चालनो भाईडा रे ओ जी,
जग में मोटो नाम बापजी रो,
जग में मोटो नाम रे,
अब पैदल पैदल चालता पीरा रे ओ,
अब पैदल पैदल चालता पीरा रे ओ जी।।

मास भादवा माय बापजी,
मास भादवा माय रे,
आ बीज आवे चांदनी धणीया री ओ,
आ बीज आवे चांदनी धणीया री ओ जी,
मेलो लागे जोर पीरा रो,
मेलो लागे जोर रे,
वटे ढोल नगाडा बाजता धणीया रे ओ,
वटे ढोल नगाडा बाजता धणीया रे ओ जी।।

पैदल पैदल चाल भाईडा,
पैदल पैदल चाल रे,
अब गुण बाबा रा गावसा भाईडा रे,
अब गुण बाबा रा गावसा भाईडा रे ओ जी,
जय बाबा री बोल भाईडा,
जय बाबा री बोल रे,
थारो मनडो शुद्ध होवसी भाई रे,
थारो मनडो शुद्ध होवसी भाईडा रे ओ जी।।

द्वारिका रा नाथ बापजी,
द्वारिका रा नाथ रे,
ए धोरां धरती आविया अन्नदाता रे,
ए धोरां धरती आविया अन्नदाता रे ओ जी,
अजमल घर अवतार बापजी,
अजमल घर अवतार रे,
ऊंडू काश्मीर आविया अन्नदाता ओ,
ऊंडू काश्मीर आविया अन्नदाता ओ जी।।

ओ बडा विरमदेव भाईडा,
बडा विरमदेव रे,
ए छोटा कहिजे रामदेव अन्नदाता रे,
ए छोटा कहिजे रामदेव अन्नदाता रे ओ जी,
अरे लाच्छा सुगना बहन बाबा री,
लाच्छा सुगना बहन रे,
ओ रतनो हाजिर रेवतो धणीया रे ओ,
ओ रतनो हाजिर रेवतो धणीया रे ओ जी।।

अरे अमरकोट रे माय बापजी,
अमरकोट रे माय रे,
आ नेतल कहिजे पांगली भाईडा रे,
आ नेतल कहिजे पांगली भाईडा रे ओ जी,
हथलेवा रे माय बापजी,
हथलेवा रे माय,
नेतल ने पगलीया देवीया अन्नदाता रे,
नेतल ने पगलीया देवीया अन्नदाता रे ओ जी।।

भगता री अरदास पीरजी,
भगता री अरदास,
थे सुनता वेगा आवजो अन्नदाता रे,
थे सुनता वेगा आवजो अन्नदाता रे ओ जी,
गावे चरना माय बापजी,
गावे चरना माय रे,
भगता री लजीया राखजो रामाजी रे,
भगता री लजीया राखजो रामाजी रे ओ जी।।

आयो मेलो आज बाबा रो,
आयो मेलो आज रे,
रूनीचा नगरी चालनो भाईडा रे,
रूनीचा नगरी चालनो भाईडा रे ओ जी,
जग में मोटो नाम बापजी रो,
जग में मोटो नाम रे,
अब पैदल पैदल चालता पीरा रे ओ,
अब पैदल पैदल चालता पीरा रे ओ जी।।

Leave a Reply