आव आव मारा सेठ सांवरा था बीन मायरो कुन भरे लिरिक्स

राजस्थानी भजन आव आव मारा सेठ सांवरा था बीन मायरो कुन भरे लिरिक्स
स्वर- जगदीश वैष्णव जी

आव आव मारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

देराणी जेठाणी माने,
मोसा गना बोले,
नानी नैणा सु नीर जरे,
आव आव म्हारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

ओर सेटा के मेला माई बेसनो,
नरसी तो टपरी मे भजन करे,
आव आव म्हारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

ओर सेटा के बापला बाटीया,
सोरा सोरी मारा भुका मरे,
आव आव म्हारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

ओर सेटा के मगवल दासया,
सोरा सोरी तो सीया मरे,
आव आव म्हारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

ओर सेटा के गाडिया माई बेसनो,
ओर सेटा के कारा माई गुमनो,
सोरा सोरी तो उबाना भरे,
आव आव म्हारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

आव आव मारा सेठ सांवरा,
था बीन मायरो कुन भरे।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply