ओलु आवे जीव दुख पावे वीरह सतावे रे

प्रकाश माली भजन ओलु आवे जीव दुख पावे वीरह सतावे रे
गायक – प्रकाश माली जी।

ओलु आवे जीव दुख पावे,
वीरह सतावे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे।।

अन्न नही भावे नींद नी आवे,
वीरे सतावे रे,
अन्न नही भावे नींद नी आवे,
वीरे सतावे रे,
घायल मृग ज्यु फिरू भटकती,
दर्द न जाने कोई,
घायल मृग ज्यु फिरू भटकती,
दर्द न जाने कोई,
श्याम दर्द न जाने कोई,
सावरिया री ओलु आवे रे,
दर्द न जाने कोई,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे।।

अरे दिन दिन मे खाय घमायो,
रेण घमायो सोय,
अरे दिन दिन में खाय घमायो,
रेण घमायो सोय,
तडप तडप मारो पींजर पड्यो,
नैन घमाया रोय,
तडप तडप मारो पींजर पड्यो,
नैन घमाया रोय,
नैन घमाया रोय श्याम,
नैन घमाया रोय,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे।।

जो मै एडो जानती,
प्रीत किया दुख होय,
जो मै एडो जानती,
प्रीत किया दुख होय,
नगर ढिढ़ोरो पीटती,
प्रीत न करीयो कोई,
नगर ढिढ़ोरो पीटती,
प्रीत न करीयो कोई,
प्रीत न करीयो कोई,
श्याम प्रीत न करीयो कोई,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे।।

अरे नगर बुहारू पंथ निहारू,
ऊबी बाटा जोय,
अरे नगर बुहारू पंथ निहारू,
ऊबी बाटा जोय,
बाई मीरा केवे प्रभु गिरधर नागर,
आप मिलीया सुख होय,
बाई मीरा केवे प्रभु गिरधर नागर,
आप मिलीया सुख होय,
श्याम आप मिलीया सुख होय,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे।।

ओलु आवे जीव दुख पावे,
वीरह सतावे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे,
मारा मीरा रा महाराज,
श्याम री ओलु आवे रे।।

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply