ओ माँ प्यारी लागे तेरस री रात जी माजीसा भजन लिरिक्स

प्यारी लागे तेरस री रात जी ओ माँ – माजीसा री मेहंदी राचणी ( राजस्थानी )
गायक – हर्ष माली
एल्बम – माजीसा री मेहंदी राचणी ( राजस्थानी )
सगीत – इंद्र शर्मा
गीतकार – शर्मा ब्रदर्स
निर्देशक – सज्जन सिंह
निर्माता – तरुण हासानी
श्री कृष्णा कैसेट्स

जसोल गढ़ में मोटो बनीयो धाम,
जसोल गढ़ में मोटो बनीयो धाम,
ओ माँ प्यारी लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ वाली लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ छोकी लागे तेरस री रात जी।।

धोरां धरती माय मैया देवरो है आपरो,
साचो थारो नाम मैया एक थारो आसरो,
ओ निव निव लागू थारे पाय,
लुल लुल लागू थारे पाय,
ओ माँ वाली लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ छोकी लागे तेरस री रात जी।।

दूर देशारा माजीसा आवे थारे यात्री,
भाव सु केवे माजीसा अरजी सुनलो म्हारी,
कलयुग मे साचो थारो नाम,
कलयुग मे साचो थारो नाम,
ओ माँ वाली लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ छोकी लागे तेरस री रात जी।।

जोगीदा सु मैया म्हारी मालानी पधारे,
भगता रे कारण मैया शक्ति रूप आ धारे,
सवाई सिंह जी घोड़े चढने आव,
लाल बन्नासा री मूरत मनडे भाव,
ओ माँ वाली लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ छोकी लागे तेरस री रात जी।।

रमता खेलता मैया आंगनीये पधारो,
सेवक थारे मैया चाकरी मे लागो,
श्याम इन्द्र जश गाव,
रवि नूतन चरना माय,
ओ माँ वाली लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ छोकी लागे तेरस री रात जी।।

जसोल गढ़ में मोटो बनीयो धाम,
जसोल गढ़ में मोटो बनीयो धाम,
ओ माँ प्यारी लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ वाली लागे तेरस री रात जी,
ओ माँ छोकी लागे तेरस री रात जी।।

Watch Video song of प्यारी लागे तेरस री रात जी ओ माँ – माजीसा री मेहंदी राचणी ( राजस्थानी )

Leave a Reply