औरा के आंगण काई खेलो म्हारा जिन्द बाबा भजन लिरिक्स

राजस्थानी भजन औरा के आंगण काई खेो म्हारा जिन्द बाबा भजन लिरिक्स

औरा के आंगण काई खेलो,
म्हारा जिन्द बाबा,
म्हारा आंगणिया में खेलो जी

दादा जी मनावे थांका,
बाबाजी जी मनावे,
बनडी बुलावे बेगा बेगा आओ जी,
औरां के आंगण काई खेलो,
म्हारा जिन्द बाबा,
म्हारा आंगणिया में खेलो जी।।

औरा क आंगण मिठाई बांटे,
म्हारा आंगणिया बाटो जी,
औरा क आंगण काई,
अन्तर की ीशियां लावे,
म्हारा आंगणिया लाओ जी,
औरां के आंगण काई खेलो,
म्हारा जिन्द बाबा,
म्हारा आंगणिया में खेलो जी।।

बावडिया में बैठ्या बैठया,
हुकम चलावे,
भगतां का कारज बेगा सारो जी,
चुतरा चुनवा ड्यू थांके,
गादिया तो लगवा द्यु,
चेतन वाली पाळणी मंगवाड्यू जी,
औरां के आंगण काई खेलो,
म्हारा जिन्द बाबा,
म्हारा आंगणिया में खेलो जी।।

औरा के आंगण काई खेलो,
म्हारा जिन्द बाबा,
म्हारा आंगणिया में खेलो जी।।

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply