कलयुग माई परचा अपरम्पार रामदेव जी भजन लिरिक्स

कलयुग माई परचा अपरम्पार रामदेव,
कलयुग माई परचा अपरम्पार,
मन्दिर सुहानो खेड़ा मायने ओ जी हा,
अरे दर्शन दिना सपना माई आय रामदेव,
दर्शन दिना सपना माई आय,
आप पधार्या बूढा विप्र के ओ जी हा।।

भगत जागीया आल ने जंजाल रामदेव,
भगत जागीया आल ने जंजाल,
फेकियो कांकरियो आंधो कर दियो रे ए जी हा,
गलती मारी कर दिजो थे माफ रामदेव,
गलती मारी कर दिजो थे माफ,
घोडो अवार्यो खुलगी आँखीया ओ जी हा।।

मिन्दर मारो दिजे तू चुनाय भगतजी,
मिन्दर मारो दिजे तू चुनाय,
जगह बतायी बाबो आयने ओ जी हा,
रूपीया कोनी बाबा मारे पास बापजी,
रूपीया कोनी बाबा मारे पास,
किकर बनावु थारो देवरो ओ जी हा।।

मूरत लाया जयपुर सु घडवाय भाईडा,
मूरत लाया जयपुर सु घडवाय,
मिन्दर बनायो रामापीर को ओ जी हा,
बाबो मारो दुखीयो रो दातार बापजी,
बाबो मारो दुखीया रा दातार,
शरने आयो री पूरे कामना ओ जी हा।।

फेपसिंह है थारे चरना रो दास बापजी,
फेपसिंह है थारे चरना रो दास,
सेवा करावे निशदिन आपरी ओ जी हा,
बाबा माने थारो है विशवास रामदेव,
बाबा माने थारो है विशवास,
हेलो सुनता ही वेगा आवजो ओ जी हा।।

कलयुग माई परचा अपरम्पार रामदेव,
कलयुग माई परचा अपरम्पार,
मन्दिर सुहानो खेड़ा मायने ओ जी हा,
अरे दर्शन दिना सपना माई आय रामदेव,
दर्शन दिना सपना माई आय,
आप पधार्या बूढा विप्र के ओ जी हा।।

Leave a Reply