कृष्ण भजन मैं झोली पसारे खड़ा जरा देखो इधर बाबा लिरिक्स

कृष्ण भजन मैं झोली पसारे खड़ा जरा देखो इधर बाबा लिरिक्स
कलेजा फट जाएगा इस भजन को सुनकर – shyam bhajan – rajesh atoliya – GADHWAL STUDIO
इस भजन के अंत में सभी रो पड़े ऐसा क्या इस भजन में

मैं झोली पसारे खड़ा,
जरा देखो इधर बाबा,
मेरे नैनो में आंसू है,
जरा देखो इधर बाबा।।

तेरे होते क्यों दुःख पाऊँ,
क्यों दर दर की ठोकर खाऊँ,
मैं तो अब हुँ अब हारा,
जरा देखो इधर बाबा,
जरा देखो इधर बाबा।।

क्यों तू मुझसे रूठ गया है,
जीवन मेरा रुक सा गया है,
कुछ दे दो मुझे इशारा,
जरा देखो इधर बाबा।।

नजरे तुमसे हटती नही है,
नजरो से नजरे मिलती नही है,
क्यों तार से तार टुटा,
जरा देखो इधर बाबा।।

ज्यादा कुछ नहीं तुमसे मांगू,
पहली जैसी किरपा चाहूँ,
जरा तुलसी पत्ता हिला,
जरा देखो इधर बाबा।।

तुलसी पत्ता जो मिल जाएगा,
जीवन फिर से खिल जाएगा,
संजीवन बूटी मिला,
जरा देखो इधर बाबा।।

मैं झोली पसारे खड़ा,
जरा देखो इधर बाबा,
मेरे नैनो में आंसू है,
जरा देखो इधर बाबा।।

भजन बिना विरथा जनम गयो भजन लिरिक्स

म्हारो मन रे माला में पोई रे भजन लिरिक्स

सांवरे सलोने से जबसे मेरी प्रीत हो गई भजन लिरिक्स

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply