खम्मा खम्मा रे म्हारा रुणीचे रा धणिया भजन लिरिक्स

फिल्मी तर्ज भजन खम्मा खम्मा रे म्हारा रुणीचे रा धणिया भजन लिरिक्स
गायक – संदीप पारीक।
तर्ज – उड़ उड़ रे म्हारा।

खम्मा खम्मा रे म्हारा,
रुणीचे रा धणिया,
भादुड़े रो मैलो दिखाय दीजै,
म्हाने भी रुणीचे बुलाय लीजै।।

धोरां माहीं रुणीचो धाम बसायो,
पग पग पर बाबो परचो दिखायो,
आंगणिया में पगल्या मंडवाय दीजै,
म्हाने भी रुणीचे बुलाय लीजै।।

धोली धोली ध्वजा बाबा थारे लहरावे,
छत्तर चढ़ावे कोई निशान चढ़ावे,
भटक्योड़ा न गैलो दिखाय दीजै,
म्हाने भी रुणीचे बुलाय लीजै।।

आंधलिया न आंख्या सु रुणीचो दिखाओ,
हारयोड़ा न बापजी थे हिवड़े स्युं लगाओ,
“केशव” रो मान बढ़ाय दीजै,
म्हाने भी रुणीचे बुलाय लीजै।।

खम्मा खम्मा रे म्हारा,
रुणीचे रा धणिया,
भादुड़े रो मैलो दिखाय दीजै,
म्हाने भी रुणीचे बुलाय लीजै।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply