जालौर नगरी में मैया मोटो थारो धाम है

जालौर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है,
सब मिला चालो रे,
मां सुंधा रे जाणो है।।

जोधाणा में भटक्यो रे,
ओसिया में पाया है,
सच्चयाय मां के मंदिर में,
मेरी मैया का ठिकाना है,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

कल्याणपुर में भट्कयो रे,
नागाणा में पाया है,
नागणेची मंदिर में,
मेरी मैया का ठिकाना है,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

जैसाना मे भटक्यो रे,
रामगढ़ में पाया है,
तनोट मां के मंदिर में,
मेरी मैया का ठिकाना है,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

चौहटन में भट्टकयो रे,
विरात्रा में पाया है,
वाकल मा के मंदिर में,
मेरी मैया का ठिकाना है,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

बाड़मेर में भटक्यो रे,
गढ़ मंदिर पाया है,
भवानी मां के मंदिर में,
मेरी मैया का ठिकाना है,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

जालौर में भटक्यो रे,
सुंदा जी में पाया है,
ऊंचे ऊंचे पहाड़ों में,
मेरी मां का ठिकाना है,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

रमेश सारण रे ओ मैया,
अर्जी सुनावे है,
जुग जुग चरणा रो,
मईया मै तो तेरा दास हूं,
जालोर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है।।

जालौर नगरी में मैया,
मोटो थारो धाम है,
सब मिला चालो रे,
मां सुंधा रे जाणो है।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply