तुम देखो लोगों भूलभुलैया का तमाशा भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
यह तन काचा कुम्भ है ,लिये फिरे थे साथ।
ठनका लागा फूटि गया , कछु न आया हाथ।

तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा।

नव दस मास गरभ के अन्दर ,
करता नरक निवासा।
बाहर आकर भूल गया तू ,
चाहे भोग विलासा।
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

खाटा मीठा भोजन चाहिए ,
बिस्तर चाहिए खासा।
जम के दूत पकड़ ले जावे ,
घाल गले में फांसा ॥
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

कौड़ी – कौड़ी माया जोड़ी ,
जोड़ी है लाख पचासा।
अंत समय कछु काम न आवे ,
खाली हाथ तू जाता।
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

बहन जुरे तेरी बार तिवारा ,
माय जुरे दस मासा।
तेरह दिन तक तिरिया रोवे ,
फेर करे घर वासा।
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

डेली तक तिरिया का नाता ,
पल्या तक तेरी माता
मरघट तक सब मित्र संगाती ,
हंस अकेला जाता।
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

हाड़ जले जैसे लाकड़ी रे ,
कैश जले ज्यों घाँसा।
सोना जैसी काया जलत है ,
कोई नी आवे थारे पासा।
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

लख चौरासी में भटकत – भटकत ,
मिटी न मन की त्रासा।
कहै कबीर सुनो भई साधो ,
या दुनिया की रासा।
तुम देखो लोगो भूले ,
भुलैया का तमासा। टेर …

कबीर चेतावनी भजन लिरिक्स
भजन :- तुम देखो भूले भुलैया का तमासा
गायक :- मोहन लाल राठोड
तुम देखो लोगों भूलभुलैया का तमाशा भजन लिरिक्स tum dekho logo bhul bhulaiya ka tamasha kabir nirguni bhajan lyrics

mohan lal rathore ke bhajan

tum dekho logo bhul bhulaiya ka tamasha kabir nirguni bhajan lyrics in English

tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

nav das maas garabh ke andar,
karta narak nivasha.
bahar aakar bhul gaya tu,
chahe bhog vilasha.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

khata mitha bhojan chahiye,
bistar chahiye khasa.
jam ke dut pakad le jave,
ghal gale me fasa.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

kodi kodi maya jodi,
jodi hai lakh pachasa.
ant samay kachu kaam ne aave,
khali hath tu jata.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

bahan jure teri bar tiwara,
may jure das masa.
terah din tak tiriya rove,
fer kare ghar vasa.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

deli tak tiriya ka nata,
palya tak teri mata.
matghat tak sab mitra sangati,
hans akela jata.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

had jale jaise lakadi re,
kesh jale jyo ghasa.
sona jaise kaya jalat hai,
koi ni aave thare pasa.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

lakh chorasi me bhatkat bhatkat,
miti n man ki trasa.
kahe kabir suno bhai sadho,
ya duniya ki rasa.
tum dekho logo bhule,
bhulaiya ka tamasha.

Leave a Reply