नगर भागली जामो पायो जियो जियो जी शान्तिनाथजी

राजस्थानी भजन नगर भागली जामो पायो जियो जियो जी शान्तिनाथजी
Singer – Jog Bharti Ji & Geeta Ji Goswami

नगर भागली जामो पायो,
पीरजी पीर पद पायो जी,
सिरेमंदर री अलख पेडिया में,
राज करायो जी शान्तिनाथजी,
जियो जियो जी शान्तिनाथजी,
थोरी जग जालौरी मे फिरे दुआई जी,
शान्तिनाथजी जी,
जियो जियो जी शान्तिनाथजी,
वारी वारी ओ पीर बापजी,
थोरी जग जालौरी मे फिरे दुआई जी,
शान्तिनाथ जी।।

केशरनाथजी गुरु भेटिया,
सत मन सेवा कराई जी,
चितहरणी में भजन कमायो,
प्रसिद्ध परम-पद पायो जी,
शान्तिनाथ जी,
जियो जियो जी शान्तिनाथ जी,
जियो जियो जी म्हारा पीरजी,
भक्तों रा भीडु आप केवाया ओ,
शान्तिनाथ जी।।

बतीसी सोमासा आप कराया,
असरज काम करायो जी,
भुला भटका ने रस्ते लगाया,
कृपा कराई ओ पीर बापजी,
वारी वारी ओ पीर बापजी,
थोरी जग जालौरी मे फिरे दुआई जी,
शान्तिनाथ जी,
इण दुर्बलियो रे बेले आया जी,
शान्तिनाथ जी।।

नाथ समप्रदा मे नाम आपरो,
सगला थाने सिमरे ओ,
बडा बडा योगेश्वर थाने,
शिवरुपी माने ओ के शान्तिनाथजी,
जियो जियो जी शान्तिनाथजी,
भक्तों रे हरदम भेला रेईजो जी,
शान्तिनाथ जी।।

मानुष तन छोड दाता,
शिव मे आप समायो ओ,
गंगानाथजी ने पीर बनाया,
जोरावर लिखायो जी,
शान्तिनाथजी,
जियो जियो जी शान्तिनाथजी,
भक्तों रे हरदम भेला रेईजो जी,
शान्तिनाथ जी।।

नगर भागली जामो पायो,
पीरजी पीर पद पायो जी,
सिरेमंदर री अलख पेडिया में,
राज करायो जी शान्तिनाथजी,
जियो जियो जी शान्तिनाथजी,
थोरी जग जालौरी मे फिरे दुआई जी,
शान्तिनाथजी जी,
जियो जियो जी शान्तिनाथजी,
वारी वारी ओ पीर बापजी,
थोरी जग जालौरी मे फिरे दुआई जी,
शान्तिनाथ जी।।

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply