पैदल आयो रे सुंधा मैया थारा दर्शन दर्शन के लिए

पैदल आयो रे सुंधा मैया,
थारा दर्शन दर्शन के लिए,
दर्शन दीजो रे,
सुंधा मइया अर्जी करूं।।

सिंगार लायो रे सुंधा मइया,
थारे चाढण रे लिए,
सिंगार कर लो,
सुंधा मइया अर्जी करूं।।

संग बणाऊ रे सुंदा मैया,
थारे चरणा में लाऊ,
कृपा करजो ओ सुंदा मैया,
म्हारो जन्म सफल हो जाए।।

घेवर लायो ओ सुंदा मइया,
चाडण रे लिए,
भोग लगाऊ ओ सुंदा मइया,
थारे जीमण के लिए।।

घरे चालो ओ सुंदा मइया,
भगत अर्जी करे,
दर्शन दिजो ओ सुंदा मइया,
थे तो नव रूप धार।।

रमेश सारण आवे,
ओ सुंदा मइया शीश निमावे,
झोली भर दीजो ओ,
सुंदा मइया कृपा थे तो कर दिजो।।

पैदल आयो रे सुंधा मैया,
थारा दर्शन दर्शन के लिए,
दर्शन दीजो रे,
सुंधा मइया अर्जी करूं।।

Leave a Reply