माने जाणो रे भाया रुणिचा अर्जेन्ट भजन

माने जाणो रे भाया ,
रूणिचा अर्जेन्ट।
रामा धणी रो मेलो भरिजे ,
परचा पड़े प्रजेंट।

मेला माहि मोटा मोटा ,
लागा है रेस्टोरेंट।
दूर दूर सु आया मानवी ,
बैठा लगाय ने टेंट।
माने जाणो रे भाया ,
रूणिचा अर्जेन्ट। टेर।

छोटा मोटा आवे मानवी ,
बनकर अप तू डेंट।
रामा धणी ने जो सिंवरे वो ,
बणे इंटेलिजेंट।
माने जाणो रे भाया ,
रूणिचा अर्जेन्ट। टेर।

बूढ़ा ठाडा सब थे चालो ,
चालो स्टूडेंट।
बाबा रे दरबार में जाके ,
बण जावो सर्वेंट।
माने जाणो रे भाया ,
रूणिचा अर्जेन्ट। टेर।

बाबा रामसा पीर भगत रो ,
सही करे जजमेंट।
मान बाबा रो लेय काम कर ,
बाबो करेला डवलपमेंट।
माने जाणो रे भाया ,
रूणिचा अर्जेन्ट। टेर।

लखन चौधरी बाबा रे शरणे ,
बैठो है प्रजेंट।
रामदेवजी लाज राखजो ,
थारो हु सर्वेन्ट।
माने जाणो रे भाया ,
रूणिचा अर्जेन्ट। टेर।

moinuddin manchala ke marwadi bhajan

माने जाणो रे भाया रुणिचा अर्जेन्ट भजन mane jano re bhaya runicha arjent ramsa peer ke bhajan lyrics
भजन :- माने जाणो रे भाया
गायक :- मोइनुद्दीन मनचला

Leave a Reply