सासरिया री पोल तेजो नींद निसारे

सासरिया री पोल,
तेजो नींद निसारे,
पेमल देवी आय जगाया हो राम,
सुनो सुनो पेमल माने,
क्यों थे जगाया,
प्रभाते उड़ाई मारी निंदड़ली हो राम।।

सुनो सुनो तेजल थाने,
लाछा उडिके,
मलकी पोलया में ऊभी एकली हो राम,
बोलो बोलो लाछा थारे,
काई काम पड़यो,
क्यों थे ढल्या हो थारा नेना सु हो नीर।।

सुनो सुनो तेजल मारी,
गाया मीणा लेग्या,
भोला भोला बछड़ा अरड़ावे तेजलवीर,
गाया वाली वार तेजल,
रणभूमि में गया हो,
मीणा ने हराया गाया लाया तेजलवीर।।

अरे जाटणी रा जाया थे तो,
जग में पूजाया,
धरती ऊपर नाम अमर कीनो तेजलवीर,
महादेव री कृपा मारे,
सदा असमाना हो,
जाटा को मान बढ़ायो तेजल वीर।।

सासरिया री पोल,
तेजो नींद निसारे,
पेमल देवी आय जगाया हो राम,
सुनो सुनो पेमल माने,
क्यों थे जगाया,
प्रभाते उड़ाई मारी निंदड़ली हो राम।।

Leave a Reply