भस्मी रमाये जटा गंग बहाए शिव भजन लिरिक्स

भस्मी रमाये जटा गंग बहाए,

दोहा – महाकाल वो हस्ती है,
जिनसे मिलने को दुनिया तरसती है,
और हम उसी महफिल में बैठते है गुरु,
जहाँ महाकाल की महफ़िल सजती है।
ना चिंता ना भय तो बोलो महाकाल की जय।

बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
भस्मी रमाये जटा गंग बहाए,
ओढ़े मृगछाला शिव तांडव दिखाए,
महाकाल भोले, महाकाल भोले,
शिव तांडव दिखाए,
महाकाल भोले हो,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले।।

बाबा महाकाल बैठे क्षिप्रा किनारे,
भक्तो को लागे बाबा कितने प्यारे,
नाचे छम छम भोले गिरिजा के संग,
भगत भी बोले बम बम बम,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले।।

शमशानों में बाबा धूनी रमाये,
भूत प्रेत गण नाच दिखावे,
भंग का प्याला लेकर संग,
बाबा रहते मस्त मलंग मस्त मलंग,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले।।

कालो के महाकाल कहावे,
हम सब की भोले लाज बचावे,
जो रंग जाए इनके रंग,
जीवन मैं फिर न कोई गम न कोई गम,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले।।

भस्मी रमाये जटा गंग बहाए,
ओढ़े मृगछाला शिव तांडव दिखाए,
महाकाल भोले, महाकाल भोले,
शिव तांडव दिखाए,
महाकाल भोले हो,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले,
बम बम भोले, बम बम भोले।।

Leave a Reply