चरणों में रहने दो,
करता हूँ अरदास,
दूर से मन में,
लाया यही आस,
चरणों में रहने दो।।

ग़म का सताया हूँ मै,
जग का हूँ मारा,
करके दया बाबा,
दे दो सहारा,
तारो या मारो बाबा-२,
अब है तेरे हाथ,
दूर से मन में,
लाया यही आस,
चरणों में रहने दो।।

राह निहारे तेरी,
नयना यह मेरे,
तरस रहे है बाबा,
दरश को तेरे,
आकर बुझा दो मेरे-२,
नैनो की आज प्यास,
दूर से मन में,
लाया यही आस,
चरणों में रहने दो।।

तुम हो दयालू बड़े,
कहती ये दुनिया,
मेरे शिर्डी वाले मुझमे,
बहुत है कमियाँ,
कमियो अपनी बाबा-२,
आए मुझे लाज,
दूर से मन में,
लाया यही आस,
चरणों में रहने दो।।

चरणों में रहने दो,
करता हूँ अरदास,
दूर से मन में,
लाया यही आस,
चरणों में रहने दो।।

साईं बाबा भजन चरणों में रहने दो करता हूँ अरदास साईं बाबा भजन
तर्ज – अँखियो को रहने दो।

One thought on “चरणों में रहने दो करता हूँ अरदास साईं बाबा भजन

Leave a Reply

Your email address will not be published.