फागणियो रंगीलो रंगीलो बाबो श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

फागण को मेलो यो तो,
बड़ो अलबेलो,
चलो जी खाटू चाला,
बाबो मारे हेलो,
ध्यान लगा के सुण लो,
यो बाबे रो पैगाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

लाल गुलाल झोली,
भर भर ले जास्या,
मंदिर के माहि आपा,
खूब उडास्या,
बादल सा छा जावे,
रंगीली हो जा शाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

केसर को रंग घोला,
श्याम के लगावा,
मस्त हो जावे बाबो,
इतर भी उड़ावा,
तबियत खुश कर देस्या,
मैं तेरी भी घनश्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

प्रेम को रंग बाबो,
श्याम लगावे है,
श्याम रंग जी के लागे,
मौज वो उड़ावे है,
जग माया का बंधन,
कट जावे है तमाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

फागणियो रंगीलो रंगीलो बाबो श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

कृष्ण भजन फागणियो रंगीलो रंगीलो बाबो श्याम होली भजन लिरिक्स
तर्ज – सावन का महीना।

See also  जागो जागो रे ध्यान सु भाया पुरबजी घर में आया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *