भोमिया जी सरदार म्हारा राठोड़ी सिरदार घुड़ले रे घमके आइजो

भोमिया जी सरदार,
म्हारा राठोड़ी सिरदार,
घुड़ले रे घमके आइजो,
म्हारा राठोड़ी सरदार।।

अरे चौथ चॉंदनी आई,
माण्डा में मेलो भारी,
मेला में बेगा आइजो जी,
रतनसिंह सरदार,
घुड़ले रे घमके आइजो,
म्हारा राठोड़ी सरदार।।

माण्डा नगरी माई थोरी,
जागी ज्योत सवाई,
आरतियों में बेगा आओ,
ओ भोमिया जी सरदार,
घुड़ले रे घमके आइजो,
म्हारा राठोड़ी सरदार।।

ढोल नगाड़ा बाजे,
झालर रो झणकार,
ढोलों रे ढमके आइजो जी,
राठोड़ी सरदार,
घुड़ले रे घमके आइजो,
म्हारा राठोड़ी सरदार।।

महेश लोहार जस गावे,
चरणा रे मई सिष नवावे,
म्हारो बेड़ो पार लगावोजी,
राठोड़ी सरदार,
घुड़ले रे घमके आइजो,
म्हारा राठोड़ी सरदार।।

भोमियाजी सरदार,
म्हारा राठोड़ी सिरदार,
घुड़ले रे घमके आइजो,
म्हारा राठोड़ी सरदार।।

राजस्थानी भजन भोमिया जी सरदार म्हारा राठोड़ी सिरदार घुड़ले रे घमके आइजो

Leave a Comment

Your email address will not be published.