सुख रा महल सोवनी साजा,

दोहा – समय समय की बात है,
और समय समय में ठीक,
समय बनावे बादशाह,
भई समय मंगावे भीख।

सुख रा महल सोवनी साजा,
ए सूख रा महल सोवनी साजा,
बारी भरमदेलीरा राजा,
बारी भरमदेलीरा राजा ओ,
ज्यारी अविगत से गत होई रे,
ज्यारी अविगत से गत होई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
ए ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे ओ जी।।

ए पाच चोर चुगती से पकडो,
ए पाच चोर चुगती से पकडो,
ए तीन गुणो ने ऐसे घेरो,
अरे तीन गुणो ने ऐसे घेरो,
ओ ज्यारी वेगम से गम होई रे,
ज्यारी वेगम से गम होई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
ए ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे ओ जी।।

ए तालो लागो तलवाने बोरे,
ए तालो लागो तलवाने बोरे,
अरे सतगुरु बिना कैसे खोले,
अरे सतगुरु बिना कैसे खोले,
ओ खुशी जगत कर जोई रे,
अरे खुशी जगत कर जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
ए ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे ओ जी।।

ए शीतलनाथ संतो की स्वामी,
शीतलनाथ संतो की स्वामी,
अंतरदास वो घननामी,
अंतरदास वो घननामी,
ओ ज्याने दास कबीरसा जोई रे,
ज्याने दास कबीर सा जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
ए ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे ओ जी।।

See also  बनकर अगर सुदामा तू श्याम दर पे आए भजन लिरिक्स

सुख रा महल सोवनी साजा,
ए सूख रा महल सोवनी साजा,
बारी भरमदेलीरा राजा,
बारी भरमदेलीरा राजा ओ,
ज्यारी अविगत से गत होई रे,
ज्यारी अविगत से गत होई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
ए ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
ज्याने ओम सोम मे जोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे,
मारो मन माला मे पोई रे ओ जी।।

music video bhajan song

राजस्थानी भजन सुख रा महल सोवनी साजा बारी भरमदेलीरा राजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *