Husn Husn Qaatil Lyrics–Srishti Bhandari

Husn Husn Qaatil Lyrics–Srishti Bhandari-हुस्न हुस्न कातिल

DETAILS :

Song Title:Husn Husn Qaatil Hindi Lyrics
Lyrics by: Alaukik Rahi
Singer: Srishti Bhandari
Composer: Amjad Nadeem Aamir

FULL LYRICS :

चाँदनी उतार आई महफ़िल में आज
मेरा ही जादू चलेगा आज
आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैने भी पी ली
तो बदन में आग लगी है
हन जशन की बात चली है

मूड में तुम भी हो
मूड में हम भी हैं
खंखा मिसयूज़ ना कर लेना
आहा!

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैने भी पी ली

सारे ज़माने में मेरा ही जलवा है
आजा ना तू दोस्त तुम भी
सबके डिमॅंड में मैं देसी छ्होरी हूँ
बाहों में भर अभी बलिए

कैसी हवा मेरी तरफ चली है
मेरी पतंग की डोर कटी है
लूट ले मुझको दूनद ले मुझको
आजा ना कहीं फिर देर ना हो जाए
आहा!

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैने भी पी ली
तो बदन में आग लगी है
हन जशन की बात चली है

मूड में तुम भी हो
मूड में हम भी हैं
खंखा मिसयूज़ ना कर लेना
आहा!

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

Leave a Comment

Your email address will not be published.