Aao Bachchon Tumhen Dikhaae Jhaanki Hindustaan Ki Lyrics hindi me 

Song Title: आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झाँकी हिंदुस्तान की 
Aao bachchon tumhen dikhaaen jhaaNki hindustaan ki
Movie/ Film: जागृति-(Jaagriti)
संगीतकार / Music Director: हेमंत कुमार-(Hemant Kumar)
गायक / Singer(s): प्रदीप-(Pradeep)

गीतकार / Lyricist: प्रदीप-(Pradeep)





Aao Bachchon Tumhen Dikhaae Jhaanki Hindustaan Ki
Es Mitti Se Tilak Karo Ye Dharati Hai Balidaan Ki
Vande Maataram …


Uttar Men Rakhavaali Karataa Parvataraj Viraat Hai
Dakshin Mein Charanon Ko Dhota Saagar Kaa Samrat Hai
Jamunaa Ji Ke Tat Ko Dekho Ganga Kaa Ye Ghaat Hai
Baat-Baat Pe Haat-Haat Mein Yahan Nirala Thath Hai
Dekho Ye Tasviren Apane Gaurav Ki Abhimaan Ki,
Es Mitti Se …

Ye Hai Apanaa Rajaputana Naaz Ise Talavaron Pe
Esane Saraa Jevan Kataa Barachhi Tir Kataron Pe
Ye Pratap Ka Vatan Pala Hai Aazaadi Ke Naron Pe
Kud Padi Thi Yahan Hazaron Padminiyan Angaron Pe
Bol Rahi Hai Kan Kan Se Kurabani Rajasthaan Ki…..

Dekho Mulk Marathon Kaa Ye Yahan Shivaji Dolaa Tha
Mugalon Ki Taakat Ko Jisane Talavaaron Pe Tolaa Thaa
Har Parvat Pe Aag Lagi Thi Har Patthar Ek Sholaa Thaa
Boli Har-Har Mahadev Ki Bachcha-Bachcha Bolaa Thaa
yahaan shivaaji ne rakhi thi laaj hamaari shaan ki
Es Mitti Se …

Jaliyaan Vala Bag Ye Dekho Yahaan Chali Thi Goliyaan
ye Mat Puchho Kisane Kheli Yahaan Khoon Ki Holiyaan
Ek Taraf Banduken Dan Dan Ek Taraf Thi Toliyaan
Maranevaale Bol Rahe The Inaqalaab Ki Boliyaan
yahan Laga Di Dahanon Ne Bhi Baaji Apani Jaan Ki
Es Mitti Se …

Ye Dekho Bangal Yahaan Kaa Har Chappaa Hariyala Hai
Yahaan Kaa Bachchaa-Bachchaa Apane Desh Pe Maranevaala Hai
Dhalaa Hai Isako Bijali Ne Bhuchaalon Ne Paalaa Hai
Mutthi Mein Tufaan Bandhaa Hai Aur Praan Mein Jvaalaa Hai
Janmabhuumi Hai Yahi Hamaare Vir Subhaash Mahaan ki
Es Mitti Se….!- 


Hindi me lyrics – Desh Bhakti Songs

Aao Bachchon Tumhen Dikhaae Jhaanki Hindustaan Ki Lyrics hindi me



आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झाँकी हिंदुस्तान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती है बलिदान की
वंदे मातरम …

उत्तर में रखवाली करता पर्वतराज विराट है
दक्षिण में चरणों को धोता सागर का सम्राट है
जमुना जी के तट को देखो गंगा का ये घाट है
बाट-बाट पे हाट-हाट में यहाँ निराला ठाठ है
देखो ये तस्वीरें अपने गौरव की अभिमान की,
इस मिट्टी से …

ये है अपना राजपूताना नाज़ इसे तलवारों पे
इसने सारा जीवन काटा बरछी तीर कटारों पे
ये प्रताप का वतन पला है आज़ादी के नारों पे
कूद पड़ी थी यहाँ हज़ारों पद्मिनियाँ अंगारों पे
बोल रही है कण कण से कुरबानी राजस्थान की

देखो मुल्क मराठों का ये यहाँ शिवाजी डोला था
मुग़लों की ताकत को जिसने तलवारों पे तोला था
हर पावत पे आग लगी थी हर पत्थर एक शोला था
बोली हर-हर महादेव की बच्चा-बच्चा बोला था
यहाँ शिवाजी ने रखी थी लाज हमारी शान की
इस मिट्टी से …

जलियाँ वाला बाग ये देखो यहाँ चली थी गोलियाँ
ये मत पूछो किसने खेली यहाँ खून की होलियाँ
एक तरफ़ बंदूकें दन दन एक तरफ़ थी टोलियाँ
मरनेवाले बोल रहे थे इनक़लाब की बोलियाँ
यहाँ लगा दी बहनों ने भी बाजी अपनी जान की
इस मिट्टी से …

ये देखो बंगाल यहाँ का हर चप्पा हरियाला है
यहाँ का बच्चा-बच्चा अपने देश पे मरनेवाला है
ढाला है इसको बिजली ने भूचालों ने पाला है
मुट्ठी में तूफ़ान बंधा है और प्राण में ज्वाला है
जन्मभूमि है यही हमारे वीर सुभाष महान की

इस मिट्टी से …


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *