दिल के करीब Dil Ke Kareeb Lyrics in Hindi from 15th August (1993)

Dil Ke Kareeb Lyrics in Hindi. दिल के करीब song from 15th August 1993

Song Name : Dil Ke Kareeb
Album / Movie : 15th August 1993
Star Cast : Prem Chopra, Tisca Chopra, Saeed Jaffrey
Singer : Alka Yagnik, Kumar Sanu
Music Director : Rajan Arvind
Lyrics by : Rani Malik
Music Label : Tips

Dil Ke Kareeb Lyrics in Hindi :

कुकु कुकु कु कु
कुकु कुकु कु कु
कुकु कुकु कु कु
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा है
कुकु कुकु कु कु
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा है
आँखों से प्यार की बाते
आँखों से प्यार की बाते
चुपके से कहने लगा है
कुकु कुकु कु कु
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा है
आँखों से प्यार की बाते
आँखों से प्यार की बाते
चुपके से कहने लगा है
कुकु कुकु कु कु
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा है

न जाने कब वो एके
धड़कन पे मेरी छाया
होता है प्यार कैसा
उसने मुझे सिखाया
न जाने कब वो एके
धड़कन पे मेरी छाया
होता है प्यार कैसा
उसने मुझे सिखाया
खुसबू सा बन के अब
वो साँसों में घुल गया है
कुकु कुकु कु कु
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा ही
कुकु कुकु कु कु
कुकु कुकु कु कु
महका दिया है उसने तन्हाईयो को मेरी
मेरी निगाह में भी तस्वीर है उसकी
महका दिया है उसने तन्हाईयो को मेरी
मेरी निगाह में भी तस्वीर है उसकी
एक ख्वाब था के अब
जो हकीकत में ढल गया है
कुकु कुकु कु कु
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा है
दिल के करीब आके अब कोई रहने लगा है
आँखों से प्यार की बाते
आँखों से प्यार की बाते
चुपके से कहने लगा है
कुकु कुकु कु  कु
दिल के करीब एके अब कोई रहने लगा है
दिल के करीब एके अब कोई रहने लगा है
कुकु कुकु कु कु
कुकु कुकु कु कु
कुकु कुकु कु कु
कुकु कुकु कु कु

Dil Ke Kareeb Lyrics in English :

Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga hai
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga hai
Ankho se pyar ki bate
Ankho se pyar ki bate
Chupke se kahne laga hai
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga hai
Ankho se pyar ki bate
Ankho se pyar ki bate
Chupke se kahne laga hai
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga hai

Na jaane kab wo ake
Dhadkan pe meri chhaya
Hota hai pyar kaisa
Usne mujhe sikhaya
Na jaane kab wo ake
Dhadkan pe meri chhaya
Hota hai pyar kaisa
Usne mujhe sikhaya
Khusbu sa ban ke ab
Wo sanso mein ghul gaya hai
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga haii
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Mahka diya hai usne tanhayiyo ko meri
Meri naigah me bhi tasvir hai usiki
Mahka diya hai usne tanhayiyo ko meri
Meri naigah mein bhi tasvir hai usiki
Ek khwab tha ke ab
Jo hakikat mein dhal gaya hai
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga hai
Dil ke kareeb aake ab koi rahne laga hai
Ankho se pyar ki bate
Ankho se pyar ki bate
Chupke se kahne laga hai
Kuku kuku ku  ku, kuku kuku ku ku
Dil ke kareeb ake ab koi rahne laga hai
Dil ke kareeb ake ab koi rahne laga hai
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku
Kuku kuku ku ku, kuku kuku ku ku.

Leave a Comment

Your email address will not be published.