Aa Raat Jati Hai Lyrics in Hindi. ा रात जाती है song from Benaam 1974. It stars Amitabh Bachchan, Moushumi Chatterjee, Sharat Saxena, Prem Chopra. Singer of Aa Raat Jati Hai is Asha Bhosle, Mohammed Rafi. Lyrics are written by Majrooh Sultanpuri Music is given by Rahul Dev Burman

Song Name : Aa Raat Jati Hai
Album / Movie : Benaam 1974
Star Cast : Amitabh Bachchan, Moushumi Chatterjee, Sharat Saxena, Prem Chopra
Singer : Asha Bhosle, Mohammed Rafi
Music Director : Rahul Dev Burman
Lyrics by : Majrooh Sultanpuri
Music Label : Saregama

Aa Raat Jati Hai Lyrics in Hindi Benaam 1974

Aa Raat Jati Hai Lyrics in Hindi :

ा रात जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
चलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों
ा रात जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
चलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों

अरे आप क्यों छुप गए

मौका भी है आरजू भी लग जा तू मेरे गले से
रंगीन सी बेखुदी में हो जैम दो साथ लेके
यह बेक़रारी का मौसम यह साँस लेता अँधेरा
यु दाल जुल्फों के साये फिर ना कभी हो सवेरा
हाथों में यह हाथ लेके मचल जाये दोनों
दो रंग जैसे की मिलते हैं मिल जाये दोनों

ा रत जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
चलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों
ा रत जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
चलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों

प्याले में क्या है मुझे तोह अपने लबो की पिला दे
बुझ ना सकी जो उम्र भर वह प्यास तू ही बुझा दे
नजदीक तू इतनी ा जा
देके बदन का सहारा मुझको उड़ाए लिए चल
खो जाये ऐसे की फिर ना संभाल पाये दोनों
तड़पे कुछ आज इस तरह से बहल जाये दोनों

ा रत जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
छलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों
ा रत जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
छलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों
ा रत जाती है चुपके से मिल जाये दोनों
छलके कहीं अपनी आग में जल जाये दोनों.

Aa Raat Jati Hai Lyrics in English :

Aa raat jati hai chhupake se mil jaye dono
Chalake kahee apni aag me jal jaye dono
Aa raat jati hai chhupake se mil jaye dono
Chalake kahee apni aag me jal jaye dono

Are aap kyon chhup gaye, aayiye hamare sath gayiye naa

Mauka bhee hai aarjoo bhee lag jaa tu mere gale se
Rangin si bekhudi me ho jam do sath leke
Yeh bekarari kaa mausam yeh sans leta andhera
Yu dal julfo ke saye phir naa kabhee ho savera
Hatho me yeh hath leke machal jaye dono
Do rang jaise kee milte hain mil jaye dono

Aa rat jati hai chupake se mil jaye dono
Chalke kahee apni aag me jal jaye dono
Aa rat jati hai chupake se mil jaye dono
Chalke kahee apni aag me jal jaye dono

Pyale me kya hai mujhe toh apne labo kee pila de
Bujh naa saki jo umar bhar woh pyas tu hee bujha de
Najdik tu itani aa jaa, sine me pad jaye halchal
Deke badan kaa sahara mujhko udaye liye chal
Kho jaye aise kee phir naa sanbhal paye dono
Tadpe kuchh aaj iss tarah se bahal jaye dono

Aa rat jati hai chhupake se mil jaye dono
Chhalake kahee apni aag me jal jaye dono
Aa rat jati hai chhupake se mil jaye dono
Chhalake kahee apni aag me jal jaye dono
Aa rat jati hai chhupake se mil jaye dono
Chhalake kahee apni aag me jal jaye dono.

Leave a Reply

Your email address will not be published.