Aapke Haseen Rukh Pe Lyrics in Hindi. आपके हसीं रुख पे song from Baharen Phir Bhi Aayengi 1966. It stars Mala Sinha, Dharmendra, Tanuja, Rehman. Singer of Aapke Haseen Rukh Pe is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Anjaan Music is given by Omkar Prasad Nayyar

Song Name : Aapke Haseen Rukh Pe
Album / Movie : Baharen Phir Bhi Aayengi 1966
Star Cast : Mala Sinha, Dharmendra, Tanuja, Rehman
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Omkar Prasad Nayyar
Lyrics by : Anjaan
Music Label : Saregama

Aapke Haseen Rukh Pe Lyrics in Hindi Baharen Phir Bhi Aayengi 1966

Aapke Haseen Rukh Pe Lyrics in Hindi :

आप के हसीं रुख पे
आज नया नूर हैं
मेरा दिल मचल गया तो
मेरा क्या कसूर हैं
आप के निग़ाह ने कहा
तो कुछ जरूर हैं
मेरा दिल मचल गया
तो मेरा क्या कसूर हैं

खुली लटों की छाँव में
खिला खिला ये रूप हैं
खुली लटों की छाँव में
खिला खिला ये रूप हैं
घटा से जैसे छान रही
सुबह सुबह की धुप हैं
जिधर नजर मूड़ी
जिधर नजर मूड़ी
जिधर नजर मूड़ी उधर
सुरूर ही सुरूर हैं
मेरा दिल मचल गया तो
मेरा क्या कसूर हैं
आप के निग़ाह ने कहा
तो कुछ जरूर हैं
मेरा दिल मचल गया
तो मेरा क्या कसूर हैं

झुकी झुकी निगाह में भी
हैं बाला की शौखियाँ
झुकी झुकी निगाह में भी
हैं बाला की शौखियाँ
दबी दबी हसि में भी
तड़प रही हैं बिजलियां
शबाब आप का
शबाब आप का
शबाब आप का नशे में
खुद ही चूर चूर हैं
मेरा दिल मचल गया तो
मेरा क्या कसूर हैं

आप के निग़ाह ने कहा
तो कुछ जरूर हैं
मेरा दिल मचल गया
तो मेरा क्या कसूर हैं

जहां जहां पड़े कदम
वह फिजा बदल गयी
जहां जहां पड़े कदम
वह फिजा बदल गयी
के जैसे सरबसर बहार
आप ही में ढल गयी
किसी में ये कशिश
किसी में ये कशिश
किसी में ये कशिश कहा
जो आप में हुजूर हैं
मेरा दिल मचल गया तो
मेरा क्या कसूर हैं

आप के हसीं रुख पे
आज नया नूर हैं
मेरा दिल मचल गया
तो मेरा क्या कसूर हैं
आप के निग़ाह ने कहा
तो कुछ जरूर हैं
मेरा दिल मचल गया
तो मेरा क्या कसूर हैं.

Aapke Haseen Rukh Pe Lyrics in English :

Aap ke hasin rukh pe
Aaj naya noor hain
Mera dil machal gaya to
Mera kya kasoor hain
Aap ke nigaah ne kaha
To kuchh jarur hain
Mera dil machal gaya
To mera kya kasoor hain

Khuli laton ki chhaanv mein
Khilaa khilaa ye rup hain
Khuli laton ki chhaanv mein
Khilaa khilaa ye rup hain
Ghataa se jaise chhan rahi
Subah subah ki dhoop hain
Jidhar najar moodi
Jidhar najar moodi
Jidhar najar moodi udhar
Surur hi surur hain
Mera dil machal gaya to
Mera kya kasoor hain
Aap ke nigaah ne kaha
To kuchh jarur hain
Mera dil machal gaya
To mera kya kasoor hain

Zuki zuki nigaah mein bhi
Hain balaa ki shaukhiyaan
Zuki zuki nigaah mein bhi
Hain balaa ki shaukhiyaan
Dabi dabi hasi mein bhi
Tadap rahi hain bijaliyaan
Shabaab aap kaa
Shabaab aap kaa
Shabaab aap kaa nashe mein
Khud hi choor choor hain
Mera dil machal gaya to
Mera kya kasoor hain

Aap ke nigaah ne kaha
To kuchh jarur hain
Mera dil machal gaya
To mera kya kasoor hain

Jahaan jahaan pade kadam
Waha fijaa badal gayi
Jahaan jahaan pade kadam
Waha fijaa badal gayi
Ke jaise sarabasar bahaar
Aap hi mein dhal gayi
Kisi mein ye kashish
Kisi mein ye kashish
Kisi mein ye kashish kaha
Jo aap mein hujoor hain
Mera dil machal gaya to
Mera kya kasoor hain

Aap ke hasin rukh pe
Aaj naya noor hain
Mera dil machal gaya
To mera kya kasoor hain
Aap ke nigaah ne kaha
To kuchh jarur hain
Mera dil machal gaya
To mera kya kasoor hain.

Leave a Reply

Your email address will not be published.