Bahar Nazar Karu Lyrics in Hindi. बाहर नज़र करू song from Baghi. It stars Mumtaz, Vijaya Choudhury, Helen, Jagdeep, Jeevan, Pradeep Kumar, Kumari Naaz, Leela Naidu, Ulhas, Veena. Singer of Bahar Nazar Karu is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Hasrat Jaipuri Music is given by Chitragupta Shrivastava

Song Name : Bahar Nazar Karu
Album / Movie : Baghi
Star Cast : Mumtaz, Vijaya Choudhury, Helen, Jagdeep, Jeevan, Pradeep Kumar, Kumari Naaz, Leela Naidu, Ulhas, Veena
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Chitragupta Shrivastava
Lyrics by : Hasrat Jaipuri
Music Label : Saregama

Bahar Nazar Karu Lyrics in Hindi Baghi

Bahar Nazar Karu Lyrics in Hindi :

बाहर नज़र करो अपना
प्यार नज़र करू
जो तुम कहो तो नज़र का
खुमार नज़र करू
बाहर नज़र करो अपना
प्यार नज़र करू
जो तुम कहो तो नज़र का
खुमार नज़र करू
बाहर नज़र करो अपना
प्यार नज़र करू

जो हुक्म तो उतारु
यह चाँद का झूमर
जो हुक्म तो उतारु
यह चाँद का झूमर
पसंद हो सिरातो के
हर नज़र करू
बाहर नज़र करो अपना
प्यार नज़र करू
जो तुम कहो तो नज़र का
खुमार नज़र करू
बाहर नज़र करू

तुम्हारे चम्पी आँचल
में थकने के लिए
तुम्हारे चम्पी आँचल
में थकने के लिए
किरण के फूल या बर्खो
शराब नज़र करू
बाहर नज़र करो अपना
प्यार नज़र करू
जो तुम कहो तो नज़र का
खुमार नज़र करू
बाहर नज़र करू

अगर हुजूर को शिक्षा
पसंद हो दिल का
अगर हुजूर को शिक्षा
पसंद हो दिल का
तो कहिये कहिये दिले
बेक़रार नज़र करू
बाहर नज़र करो अपना
प्यार नज़र करू
जो तुम कहो तो नज़र का
खुमार नज़र करू
बाहर नज़र करू.

Bahar Nazar Karu Lyrics in English :

Bahar nazar karu apna
Pyar nazar karu
Jo tum kaho to nazar ka
Khumar nazar karu
Bahar nazar karu apna
Pyar nazar karu
Jo tum kaho to nazar ka
Khumar nazar karu
Bahar nazar karu apna
Pyar nazar karu

Jo hukm to utharu
Yeh chand ka jhumar
Jo hukm to utharu
Yeh chand ka jhumar
Pasand ho sirato ke
Haar nazar karu
Bahar nazar karu apna
Pyar nazar karu
Jo tum kaho to nazar ka
Khumar nazar karu
Bahar nazar karu

Tumhare champi aanchal
Mein thakne ke liye
Tumhare champi aanchal
Mein thakne ke liye
Kiran ke phul ya barkho
Sharab nazar karu
Bahar nazar karu apna
Pyar nazar karu
Jo tum kaho to nazar ka
Khumar nazar karu
Bahar nazar karu

Agar hujur ko shisha
Pasand ho dil ka
Agar hujur ko shisha
Pasand ho dil ka
To kahiye kahiye dile
Bekarar nazar karu
Bahar nazar karu apna
Pyar nazar karu
Jo tum kaho to nazar ka
Khumar nazar karu
Bahar nazar karu.

Leave a Reply

Your email address will not be published.