Bambai Raat Ki Baho Mein Title Lyrics in Hindi. बम्बई रात की बाहों में (टाइटल) song from Bambai Raat Ki Bahon Mein. It stars Surekha, Madhavi, David Abraham, Prakash, Yunus Parvez, Madhukar, Samir Kumar, Kuljit Singh, Ravikant, Bhagwan Sinha, Qamar Amrohi. Singer of Bambai Raat Ki Baho Mein Title is Asha Bhosle. Lyrics are written by Hasan Kamal Music is given by J.P. Kaushik

Song Name : Bambai Raat Ki Baho Mein Title
Album / Movie : Bambai Raat Ki Bahon Mein
Star Cast : Surekha, Madhavi, David Abraham, Prakash, Yunus Parvez, Madhukar, Samir Kumar, Kuljit Singh, Ravikant, Bhagwan Sinha, Qamar Amrohi
Singer : Asha Bhosle
Music Director : J.P. Kaushik
Lyrics by : Hasan Kamal
Music Label : Saregama

Bambai Raat Ki Baho Mein Title Lyrics in Hindi Bambai Raat Ki Bahon Mein

Bambai Raat Ki Baho Mein Title Lyrics in Hindi :

बम्बई रात की बाहों में
कहे निगाहो निगाहों में
क्यों खोया है तू ाहो में आजा
आजा आजा प्यार की राहों में
बम्बई रात की बाहों में
कहे निगाहो निगाहों में
क्यों खोया है तू ाहो में आजा
आजा आजा प्यार की राहों में

खा पी और मजे उड़ा
खा पी और मजे उड़ा
क्यों सबकी फ़िक्रों में ढालता है
ग झुम मासिया लुटा
क्यों ग़म के शोलो में जलता है
कल की चिन्ता क्यों डरता है
तू क्यों डरता है
नहार्ट मरता है
दुनिया के दुःख भूल जा
बम्बई रात की बाहों में
कहे निगाहो निगाहों में
क्यों खोया है तू ाहो में आजा
आजा आजा प्यार की राहों में

हे हे बॉम्बे हे हे बॉम्बे
हे हे बॉम्बे हे हे बॉम्बे
हे हे बॉम्बे हे हे बॉम्बे
हे हे बॉम्बे हे हे बॉम्बे

रात मुस्कुराती है
व्हाट व स्वीट मंद
रात मुस्कुराती है
जीने का राज़ बताती है
जब चाहे तो थोड़ा झुक जा
डैम लगे तो खुद बिक जा
बिक जा बिक जा
गैरो से अगर दिल मिलता है
गैरों को अपना
अपनों को तू भूल जा
बम्बई रात की बाहों में
कहे निगाहो निगाहों में
क्यों खोया है तू ाहो में आजा
आजा आजा प्यार की राहों में.

Bambai Raat Ki Baho Mein Title Lyrics in English :

Bambai raat ki baho mein
Kahe nigaho nigaho mein
Kyu khoya hai tu aaho mein aaja
Aaja aaja pyar ki raho mein
Bambai raat ki baho mein
Kahe nigaho nigaho mein
Kyu khoya hai tu aaho mein aaja
Aaja aaja pyar ki raho mein

Kha pee aur maje uda
Kha pee aur maje uda
Kyu sabki fikro mein dhalta hai
Ga jhum masiya luta
Kyu gham ke sholo mein jalta hai
Kal ki chinta kyu darta hai
Tu kyu darta hai
Nahart marta hai
Duniya ke dukh bhul ja
Bambai raat ki baho mein
Kahe nigaho nigaho mein
Kyu khoya hai tu aaho mein aaja
Aaja aaja pyar ki raho mein

He he bombay he he bombay
He he bombay he he bombay
He he bombay he he bombay
He he bombay he he bombay

Raat muskurati hai
What w sweet mind
Raat muskurati hai
Jine ka raz batati hai
Jab chahe to thoda jhuk ja
Dam lage to khud bik ja
Bik ja bik ja
Gairo se agar dil milta hai
Gairo ko apna
Apno ko tu bhul ja
Bambai raat ki baho mein
Kahe nigaho nigaho mein
Kyu khoya hai tu aaho mein aaja
Aaja aaja pyar ki raho mein.

Leave a Reply

Your email address will not be published.