Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka Title Lyrics in Hindi. बंधन कच्चे धागों का (टाइटल) song from Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka 1983. It stars Shashi Kapoor, Zeenat Aman, Rakhee Gulzar, Deven Verma, Bindu, Prem Chopra, Master Ravi, Shubha Khote, Raza Murad, Rajendra Nath, Rehana Sultan. Singer of Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka Title is Kishore Kumar. Lyrics are written by Anjaan Music is given by Hemant Bhosle

Song Name : Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka Title
Album / Movie : Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka 1983
Star Cast : Shashi Kapoor, Zeenat Aman, Rakhee Gulzar, Deven Verma, Bindu, Prem Chopra, Master Ravi, Shubha Khote, Raza Murad, Rajendra Nath, Rehana Sultan
Singer : Kishore Kumar
Music Director : Hemant Bhosle
Lyrics by : Anjaan
Music Label : Saregama

Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka Title Lyrics in Hindi :

कभी जो मिले न वो ऐसे मिले है
के बरसो युही साथ जैसे चले है
ये अहसास क्या है जो यु जगता है
दिलो को जो अन्जान यु बांधता है
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का

हवाओं से खुबसु ये कैसे जुडी है
घटा उड़ते बादल से कैसे बढ़ी है
किसे है पता है ये कसीस कौनसी है
जो साहिल से लहरो को यु खींचती है
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का

उभरते है कुछ ख्वाब तन्हाईयो में
उठे दर्द सा दिल की गहराइयों में
मिला कोई फिर भी मिला तो नहीं
मगर दिल को कोई गिला तो नहीं
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का

ये रश्मों रिवाजों की दुनिआ न जाने
कोई ऐसे रिश्तों को माने न माने
ये कुछ तो है आखिर ये कैसे हुआ है
ये कुदरत ये किस्मत ये चाहत ये क्या है
ये कुदरत ये किस्मत ये चाहत ये क्या है
ये क्या है
ये क्या है
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का
ये बंधन है कच्चे धागों का.

Bandhan Kuchchey Dhaagon Ka Title Lyrics in English :

Kabhi jo mile na wo aise mile hai
Ke barso yuhi sath jaise chale hai
Ye ahsas kya hai jo yu jagta hai
Dilo ko jo anjan yu bandhta hai
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka

Hawao se khubsu ye kaise judi hai
Ghata udte badal se kaise bandhi hai
Kise hai pata hai ye kasis konsi hai
Jo sahil se lahro ko yu khichti hai
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka

Ubharte hai kuch khwab tanhayiyo me
Uthe dard sa dil ki gahraiyo me
Mila koi fir bhi mila to nahi
Magar dil ko koi gila to nahi
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka

Ye rashmo riwazo ki dunia na jane
Koi aise rishto ko mane na mane
Ye kuch to hai aankhir ye kaise hua hai
Ye kudrat ye kismat ye chahat ye kya hai
Ye kudrat ye kismat ye chahat ye kya hai
Ye kya hai
Ye kya hai
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka
Ye bandhan hai kache dhago ka.

Leave a Reply

Your email address will not be published.