Bharat Maa Ki Aankh Ke Taro Lyrics in Hindi. भारत माँ की आँख के तारो song from Bahu Beti 1965. It stars Mala Sinha, Joy Mukherjee. Singer of Bharat Maa Ki Aankh Ke Taro is Asha Bhosle. Lyrics are written by Sahir Ludhianvi Music is given by Ravi Shankar Sharma (Ravi)

Song Name : Bharat Maa Ki Aankh Ke Taro
Album / Movie : Bahu Beti 1965
Star Cast : Mala Sinha, Joy Mukherjee
Singer : Asha Bhosle
Music Director : Ravi Shankar Sharma (Ravi)
Lyrics by : Sahir Ludhianvi
Music Label : Saregama

Bharat Maa Ki Aankh Ke Taro Lyrics in Hindi :

भारत माँ की आँख के तारो
नन्हे मुन्ने राज दुलारे
जैसे मैंने तुमको सवाया
वैसे ही तुम देश सवारा
भारत माँ की आँख के तारो
नन्हे मुन्ने राज दुलारे
जैसे मैंने तुमको सवाया
वैसे ही तुम देश सवारा
भारत माँ की आँख के तारो

ये जो है एक छोटा सा बस्ता
किस्मत के फूलों का गुलदस्ता
करिशन है इसमें राम है इसमें
ये बस्ता ईशा की कहानी
ये बता नानक की बानी
इसमें छुपी है हर सचाई
अपना सुख ोरो की भलाई
इस बास्ते को शीश नवाओ
इस बास्ते को शीश नवाओ
भारत माँ की आँख के तारो
नन्हे मुन्ने राज दुलारे
जैसे मैंने तुमको सवाया
वैसे ही तुम देश सवारा
भारत माँ की आँख के तारो

छोड़ के झूठी जाते पते
सब से सीखो अछि बाटे
अपना किसी से बैर न समझो
जग में किसी को गैर न समझो
आप पढ़ो औरों का पढाओ
घर घर ज्ञान की ज्योत जगाओ
नव जीवन की आस तुम्ही हो
बंटा हुआ इतिहास तुम्ही हो
जितना गहरा अँधियारा हो
जितना गहरा अँधियारा हो
उतने ऊँचे डीप उभारो
भारत माँ की आँख के तारो
नन्हे मुन्ने राज दुलारे
जैसे मैंने तुमको सवाया
वैसे ही तुम देश सवारा
भारत माँ की आँख के तारो

ये संसार जो हमने सजाया
ये संसार जो तुमने पाया
इस संसार में झूठ बहुत है
जुर्म बहुत है लूत बहुत है
जुर्म के आगे सिर का झुकना
हर एक झूठ से टकरा जाना
इस संसार का रंग बदलना
ऊँच और नीच का ढंग बदलना
सारा जग है देश तुम्हारा
सारा जग है देश तुम्हारा
सारे जग का रूप निखारा
भारत माँ की आँख के तारो
नन्हे मुन्ने राज दुलारे
जैसे मैंने तुमको सवाया
वैसे ही तुम देश सवारा
भारत माँ की आँख के तारो
नन्हे मुन्ने राज दुलारे.

Bharat Maa Ki Aankh Ke Taro Lyrics in English :

Bharat maa ki aankh ke taro
Nanhe munne raj dularo
Jaise maine tumko sawaya
Waise hi tum desh sawara
Bharat maa ki aankh ke taro
Nanhe munne raj dularo
Jaise maine tumko sawaya
Waise hi tum desh sawara
Bharat maa ki aankh ke taro

Ye jo hai ek chota sa basta
Kismat ke phulo ka guldasta
Karishan hai isme ram hai isme
Ye basta isha ki kahani
Ye bata nanak ki bani
Isme chupi hai har sachai
Apna sukh oro ki bhalai
Is baste ko shish nawao
Is baste ko shish nawao
Bharat maa ki aankh ke taro
Nanhe munne raj dularo
Jaise maine tumko sawaya
Waise hi tum desh sawara
Bharat maa ki aankh ke taro

Chod ke jhuthi jate pate
Sab se sikho achi bate
Apna kisi se bair na samjho
Jag me kisi ko gair na samjho
Aap padho oro ka padhao
Ghar ghar gyan ki jyot jagao
Naw jiwan ki aas tumhi ho
Banta hua itihas tumhi ho
Jitna gahra andhiyara ho
Jitna gahra andhiyara ho
Utne unche deep ubharo
Bharat maa ki aankh ke taro
Nanhe munne raj dularo
Jaise maine tumko sawaya
Waise hi tum desh sawara
Bharat maa ki aankh ke taro

Ye sansar jo hamne sajaya
Ye sansar jo tumne paya
Is sansar me jhuth bahut hai
Jurm bahut hai lut bahut hai
Jurm ke aage sar ka jhukana
Har ek jhuth se takra jana
Is sansar ka rang badalna
Unch or nich ka dhang badalna
Sara jag hai desh tumhara
Sara jag hai desh tumhara
Sare jag ka rup nikharo
Bharat maa ki aankh ke taro
Nanhe munne raj dularo
Jaise maine tumko sawaya
Waise hi tum desh sawara
Bharat maa ki aankh ke taro
Nanhe munne raj dularo.

Leave a Reply

Your email address will not be published.