Dushman Hain Sab Ki Jaanki Lyrics in Hindi. दुश्मन हैं सब की जानकी song from Besahara. It stars Bharat Kapoor, Kader Khan, Mazhar Khan, Shashikala, Rajan Sippy, Priya Tendulkar, Vidyashree. Singer of Dushman Hain Sab Ki Jaanki is Mohammed Aziz. Music is given by Usha Khanna

Song Name : Dushman Hain Sab Ki Jaanki
Album / Movie : Besahara
Star Cast : Bharat Kapoor, Kader Khan, Mazhar Khan, Shashikala, Rajan Sippy, Priya Tendulkar, Vidyashree
Singer : Mohammed Aziz
Music Director : Usha Khanna
Music Label : KMI Music

Dushman Hain Sab Ki Jaanki Lyrics in Hindi :

दुश्मन है सबकी जान की
और सब की जान हैं
कहते है जिसको रोटी बड़ी बइमान हैं

क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ
तूफान कैसे कैसे उठती हैं रोटियाँ
कातिल से पहले कटले कराती हैं रोटियाँ
आखिर में उसको फांसी चढ़ाती हैं रोटियाँ
दो गज जमीं से ऊँचा उठाती हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ

दुनिया की हर बुराई में रोटी का हाथ हैं
बेशर्मी बेहयाई में रोटी का हाथ हैं
मज़लूम की दुहाई में रोटी का हाथ हैं
मुसलिश की जग हंसाई में रोटी का हाथ हैं
इंसानियत को नँगा बनाती हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ

रोटी से चलते हैं दुनिया के कामकाज
रोटी से हैं बरकरार सहो के तखत्तज
रोटी ही यारो करती हैं सरे जहाँ पे राज़
रोटी से है ये हुस्न के बाजार ये समाज
कोठे पे नारियों को नचाती हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ

रोटी के सब दीवाने हैं क्या पीर क्या जवा
रोती है ऐसा तीर के जीसकी नहीं कमा
रोटी लगाये ज़ख़्म तो मिलता नहीं निशा
छोटी सी रोटी रुतबे में सैतान की हैं माँ
इमां को भी छलनि बनती हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ
रोटी ही लेने आया था चंगेजखां यहाँ
दरेहलाकू इसके लिए घुमे द्र बादर
हिटलर भी ने न पायी जब ये रोटी पेट भर
खंडहर बना के
छोड़ गया गुजरा वो जिधर
कुछ इस तरह से आग लगाती हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ

जन्नत से इस रोटी ने आदम की निकला
दो ज़ख्मे इसी के दम से हैं उजाला
नागिन ये दस जिसको उसका नाहिंन सम्भाला
पानी भी नहीं मांग सके मांगने वाला
हम खाते है या हमको हिकहति हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ

अच्छे भले इंसान को ये रोटी बेच दे
दो कोड़ी में िम्ना को ये रोटी बेच दे
अल्लाह के फरमान को ये रोटी बेच दे
आ जाये तो भगवन को ये रोटी बेच दे
हर चीज़ का बाजार लगती हैं रोटियाँ
क्या क्या तमाशे देखो दिखाती हैं रोटियाँ
रोटिया रोटिया .

Dushman Hain Sab Ki Jaanki Lyrics in English :

Dushman hai sabki jaan ki
Aur sab ki jaan hain
Kahte hai jisko roti badi baiman hain

Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya
Tufan kaise kaise uthati hain rotiya
Katil se pehle kattle karati hain rotiya
Aakhir mein usko fansi chadhati hain rotiya
Do gaj zami se uncha uthati hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya

Duniya ki har burayi mein roti ka hath hain
Besharmi behayai mein roti ka hath hain
Mazlum ki duhayi mein roti ka hath hain
Muslish ki jag hansayi mein roti ka hath hain
Insaniyat ko nanga banati hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya

Roti se chalte hain duniya ke kamkaz
Roti se hain barkarar saho ke takhattaz
Roti hi yaro karti hain sare jaha pe raz
Roti se hai ye husn ke bazar ye samaj
Kothe pe nariyo ko nachati hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya

Roti ke sab deewane hain kya pir kya jawa
Roti hai aisa tir ke jiski nahin kama
Roti lagaye zakham to milta nahin nisha
Chhoti si roti rutbe mein saitan ki hain ma
Iman ko bhi chhalni banati hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya
Roti hi lene aaya tha changejkha yaha
Daraihlaku iske liye ghume dra badar
Hitlar bhi ne na payi jab ye roti pet bhar
Khandhar bana ke
Chhod gaya gujra wo jidhar
Kuch is tarha se aag lagati hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya

Jannat se is roti ne aadam ki nikala
Do zkhme isi ke dam se hain ujala
Nagin ye dase jisko uska nahinn sambhala
Pani bhi nahin mang sake mangne wala
Hum khate hai ya humko hikahti hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya

Achhe bhale insan ko ye roti bech de
Do kodi mein imna ko ye roti bech de
Allah ke farman ko ye roti bech de
Aa jaye to bhagwan ko ye roti bech de
Har cheez ka bazar lgati hain rotiya
Kya kya tmashe dekho dikhati hain rotiya
Rotiya rotiya .

Leave a Reply

Your email address will not be published.