Gori Ki Chatak Matak Lyrics in Hindi. गोरी की चटक मटक song from Bade Bhaiya. It stars Lala Yaqoob, Agha, Nirupa Roy. Singer of Gori Ki Chatak Matak is G. M. Durrani, Shamshad Begum. Lyrics are written by Manohar Lal Khanna Music is given by Prem Nath

Song Name : Gori Ki Chatak Matak
Album / Movie : Bade Bhaiya
Star Cast : Lala Yaqoob, Agha, Nirupa Roy
Singer : G. M. Durrani, Shamshad Begum
Music Director : Prem Nath
Lyrics by : Manohar Lal Khanna
Music Label : Saregama

Gori Ki Chatak Matak Lyrics in Hindi Bade Bhaiya

Gori Ki Chatak Matak Lyrics in Hindi :

गोरी की चटक मटक
में मेरा दिल
मेरा दिल भटक गया
गोरी की चटक मटक
में मेरा दिल
मेरा दिल भटक गया
किसी की ज़ुल्फ़ों में
जाके वो अटक गया
वहीँ पैर लटक गया
हाय हाय हाय लटक गया
गोरी की चटक मटक में
मेरा दिल मेरा दिल भटक गया

मेरा दिल मेरा दिल
मेरा दिल उनको समझता है
शायद रसगुल्ला
मेरा दिल उनको समझता है
शायद रसगुल्ला
उन्हें देखा तो ये पहलू
से हुआ ग़ायब गुल्लाह
हाय ग़ायब गुल्लाह
उन्हें देखा तो ये पहलू
से हुआ ग़ायब गुल्लाह
हाय ग़ायब गुल्लाह
बड़ा बेईमान था
बड़ा बेईमान था दिल
उनके साथ फाटक गया
वहीँ पैर लटक गया
हाय हाय हाय लटक गया
गोरी की चटक मटक में
मेरा दिल मेरा दिल भटक गया

मेरा दिल छीन के वो
साफ़ हजम कर गए
मेरा दिल छीन के वो
साफ़ हजम कर गए
मेरे अरमानों को
मेरे अरमानों को
नज़रों से भसम कर गए
भसम कर गए
मेरा उल्फत का तराना
मेरा उल्फत का तराना
गले में अटक गया
वहीँ पैर लटक गया
हाय हाय हाय लटक गया
गोरी की चटक मटक में
मेरा दिल मेरा दिल भटक गया

ै हुस्न के दरबार में
बड़ा दिल फेंक बने
ै हुस्न के दरबार में
बड़ा दिल फेंक बने
मुहब्बत खेल नहीं
मुहब्बत खेल नहीं
होंगे लोहे के चने
ऐ जी लोहे के चने
तुम्हारे पहलू में
तुम्हारे पहलू में
दिल है कहाँ जो सटक गया
जो कहीं लटक गया
आय हाय हाय लटक गया
गोरी की चटक मटक में
मेरा दिल मेरा दिल भटक गया
किसी की ज़ुल्फ़ों में
जा के वो अटक गया
वहीँ पैर लटक गया
हाय हाय हाय लटक गया
गोरी की चटक मटक में
मेरा दिल मेरा दिल भटक गया.

Gori Ki Chatak Matak Lyrics in English :

Gori ki chatak matak
Mein mera dil
Mera dil bhatak gaya
Gori ki chatak matak
Mein mera dil
Mera dil bhatak gaya
Kisi ki zulfon mein
Jaake wo atak gaya
Wahin per latak gaya
Haay haay haay latak gaya
Gori ki chatak matak mein
Mera dil mera dil bhatak gaya

Mera dil mera dil
Mera dil unko samajhta hai
Shaayad rasgulla
Mera dil unko samajhta hai
Shaayad rasgulla
Unhen dekha to ye pehloo
Se hua ghaayab gullah
Haaye ghaayab gullah
Unhen dekha to ye pehloo
Se hua ghaayab gullah
Haaye ghaayab gullah
Bada beimaan thha
Bada beimaan thha dil
Unke saath phatak gaya
Wahin per latak gaya
Haay haay haay latak gaya
Gori ki chatak matak mein
Mera dil mera dil bhatak gaya

Mera dil chheen ke wo
Saaf hazam kar gaye
Mera dil chheen ke wo
Saaf hazam kar gaye
Mere armaanon ko
Mere armaanon ko
Nazron se bhasam kar gaye
Bhasam kar gaye
Mera ulfat ka taraana
Mera ulfat ka taraana
Gale mein atak gaya
Wahin per latak gaya
Haay haay haay latak gaya
Gori ki chatak matak mein
Mera dil mera dil bhatak gaya

Aey husn ke darbaar mein
Bada dil phenk bane
Aey husn ke darbaar mein
Bada dil phenk bane
Muhabbat khel nahin
Muhabbat khel nahin
Honge lohe ke chane
Ae ji lohe ke chane
Tumhaare pehloo mein
Tumhaare pehloo mein
Dil hai kahaan jo satak gaya
Jo kahin latak gaya
Aay haay haay latak gaya
Gori ki chatak matak mein
Mera dil mera dil bhatak gaya
Kisi ki zulfon mein
Jaa ke wo atak gaya
Wahin per latak gaya
Haay haay haay latak gaya
Gori ki chatak matak mein
Mera dil mera dil bhatak gaya.

Leave a Reply

Your email address will not be published.