Hum Sab Ek Sath Hai Lyrics in Hindi. हम सब एक साथ है song from Bulandi 1981. It stars Raj Kumar, Asha Parekh, Kim, Raj Kiran, Jeevan, Kader Khan, Helen, Bhagwan, Danny Denzongpa, Gulshan Grover, Kulbhushan Kharbanda, Rakesh Bedi. Singer of Hum Sab Ek Sath Hai is Asha Bhosle, Mohammed Rafi. Lyrics are written by Majrooh Sultanpuri Music is given by Rahul Dev Burman

Song Name : Hum Sab Ek Sath Hai
Album / Movie : Bulandi 1981
Star Cast : Raj Kumar, Asha Parekh, Kim, Raj Kiran, Jeevan, Kader Khan, Helen, Bhagwan, Danny Denzongpa, Gulshan Grover, Kulbhushan Kharbanda, Rakesh Bedi
Singer : Asha Bhosle, Mohammed Rafi
Music Director : Rahul Dev Burman
Lyrics by : Majrooh Sultanpuri
Music Label : Saregama

Hum Sab Ek Sath Hai Lyrics in Hindi Bulandi 1981

Hum Sab Ek Sath Hai Lyrics in Hindi :

हम जब एक साथ है
फिर ये तो कोई दौर नहीं
तुम कोई और नहीं हम
भी कोई और नहीं

हम जब एक साथ है
फिर ये तो कोई दौर नहीं
तुम कोई और नहीं हम
भी कोई और नहीं
हम जब एक साथ है

कहते है जिसे दिलो जान का रोग
उसी प्यार से हरे भी है लोग
देखोगे तुम कैसे
दुनिया झुकती है आगे
कोण कहता है की
दुनिया पे कोई जोर नहीं
तुम कोई और नहीं हम
भी कोई और नहीं

हम जब एक साथ है
सच है ये तो कोई दौर नहीं
तुम कोई और नहीं हम
भी कोई और नहीं
हम जब एक साथ है

सरे दर्दो घूम
ले केर साथ में
ो दे दो तुम ये
हाथ मेरे हाथ में
फिर भी ये पुछु कैसे
ये अपने होते है दिन रात
फिर हमारा न हो
ऐसा तो कोई दौर नहीं
तुम कोई और नहीं हम
भी कोई और नहीं

हम जब एक साथ है
फिर ये तो कोई दौर नहीं
तुम कोई और नहीं हम
भी कोई और नहीं
हम जब एक साथ है.

Hum Sab Ek Sath Hai Lyrics in English :

Hum jab ek saath hai
Fir ye to koi daur nahi
Tum koi aur nahi hum
Bhi koi aur nahi

Hum jab ek saath hai
Fir ye to koi daur nahi
Tum koi aur nahi hum
Bhi koi aur nahi
Hum jab ek saath hai

Kahte hai jise dilo jaan ka rog
Ussi pyar se hare bhi hai log
Dekhoge tum kaise
Duniya jhukti hai aage
Kon kahta hai ki
Duniya pe koi jor nahi
Tum koi aur nahi hum
Bhi koi aur nahi

Hum jab ek saath hai
Sach hai ye to koi daur nahi
Tum koi aur nahi hum
Bhi koi aur nahi
Hum jab ek saath hai

Sare dardo ghum
Le ker saath me
O de do tum ye
Hath mere haath me
Fir bhi ye puchu kaise
Ye apne hote hai din raat
Fir humara na ho
Aisa to koi daur nahi
Tum koi aur nahi hum
Bhi koi aur nahi

Hum jab ek sath hai
Fir ye to koi daur nahi
Tum koi aur nahi hum
Bhi koi aur nahi
Hum jab ek saath hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published.