Jaane Wo Kaun Hain Lyrics in Hindi. जाने वो कौन हैं song from Bheegi Raat 1965. It stars Pradeep Kumar, Meena Kumari, Ashok Kumar, Kamini Kaushal, Shashikala, Rajendra Nath. Singer of Jaane Wo Kaun Hain is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Majrooh Sultanpuri Music is given by Roshanlal Nagrath (Roshan)

Song Name : Jaane Wo Kaun Hain
Album / Movie : Bheegi Raat 1965
Star Cast : Pradeep Kumar, Meena Kumari, Ashok Kumar, Kamini Kaushal, Shashikala, Rajendra Nath
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Roshanlal Nagrath (Roshan)
Lyrics by : Majrooh Sultanpuri
Music Label : Saregama

Jaane Wo Kaun Hain Lyrics in Hindi Bheegi Raat 1965

Jaane Wo Kaun Hain Lyrics in Hindi :

जाने वो कौन हैं
क्या नाम है उन आँखों का
दिल पे अनजानी सी
तस्वीर बना देती हैं
बुझ के रह जाती है
जब कोई तमन्ना दिल में
इक चिराग़ और भी
चुपके से जला देती हैं
जाने वो कौन हैं

मुझको बहलाती हैं
नाशाद जो होता हूँ कभी
नींद में रंग मिलाती हैं
जो सोता हूँ कभी
जागता हूँ तो हाय
जागता हूँ तो
कई ख्वाब दिखा देती हैं
जाने वो कौन हैं
क्या नाम है उन आँखों का
हम्म हम्म हम्म
हम्म हम्म हम्म

जब भी उठती हैं
छलकती हैं गुलाबी की तरह
देर तक मैं तो
बहकता हूँ शराबी की तरह
क्या कहूँ चुपके से हाय
क्या कहूँ चुपके से
क्या चीज़ पिला देती हैं
जाने वो कौन हैं

रोज़ मिलती हैं वो
तन्हा नहीं रहने देतीं
ये है बात और की
अपना नहीं कहने देतीं
और कह दूं तो हाय
और कह दूँ तो
पालक हंस के झुका देतीं हैं
जाने वो कौन हैं
क्या नाम है उन आँखों का
दिल पे अनजानी सी
तस्वीर बना देती हैं
जाने वो कौन हैं.

Jaane Wo Kaun Hain Lyrics in English :

Jaane wo kaun hain
Kyaa naam hai un aankhon kaa
Dil pe anjaani si
Tasveer banaa deti hain
Bujh ke reh jaati hai
Jab koi tamannaa dil mein
Ik chiraag aur bhi
Chupke se jalaa deti hain
Jaane wo kaun hain

Mujhko behlaati hain
Naashaad jo hotaa hoon kabhi
Neend mein rang milaati hain
Jo sotaa hoon kabhi
Jaagtaa hoon to haay
Jaagtaa hoon to
Kai khwaab dikhaa deti hain
Jaane wo kaun hain
Kyaa naam hai un aankhon kaa
Hmm hmm hmm
Hmm hmm hmm

Jab bhi uthhti hain
Chhalakti hain gulaabi ki tarah
Der tak main to
Behaktaa hoon sharaabi ki tarah
Kyaa kahoon chupke se haay
Kyaa kahoon chupke se
Kyaa cheez pilaa deti hain
Jaane wo kaun hain

Roz milti hain wo
Tanhaa nahin rehne detin
Ye hai baat aur ki
Apnaa nahin kehne detin
Aur keh doon to haay
Aur keh doon to
Palak hans ke jhukaa detin hain
Jaane wo kaun hain
Kyaa naam hai un aankhon kaa
Dil pe anjaani si
Tasveer banaa deti hain
Jaane wo kaun hain.

Leave a Reply

Your email address will not be published.