Kehta Hai Yeh Safar Lyrics in Hindi. कहता है यह सफर song from Bada Din. It stars Marc Robinson, Shabana Azmi, Tara Deshpande. Singer of Kehta Hai Yeh Safar is Kumar Sanu. Lyrics are written by Javed Akhtar Music is given by Jatin Pandit, Lalit Pandit

Song Name : Kehta Hai Yeh Safar
Album / Movie : Bada Din
Star Cast : Marc Robinson, Shabana Azmi, Tara Deshpande
Singer : Kumar Sanu
Music Director : Jatin Pandit, Lalit Pandit
Lyrics by : Javed Akhtar
Music Label : Saregama

Kehta Hai Yeh Safar Lyrics in Hindi :

कहता है यह सफर
कहती है रहगुज़र
कहता है यह सफर
कहती है रहगुज़र
ज़माने भर के ग़म लिए
उम्मीद दिल में काम लिए
ज़माने भर के ग़म लिए
उम्मीद दिल में काम लिए
तुम चले हो कहाँ
कहता है यह सफर
कहती है रहगुज़र
ज़माने भर के ग़म लिए
उम्मीद दिल में काम लिए
ज़माने भर के ग़म लिए
उम्मीद दिल में काम लिए
तुम चले हो कहाँ
कहता है यह सफर
कहती है रहगुज़र

देखु जहा जाऊ जहा
मिल जायेगी वह
हर चीजे की दुकान
सिर्फ कही मिलता नहीं ज़ज़्बात का निशा
हल्का सा भी निशा बेगाने लोग हैं
अनजाने लोग हैं
तमाम शहर में
कही मिलेगा प्यार ही नहीं
तमाम शहर में
कही मिलेगा प्यार ही नहीं
तुम चले हो कहाँ
कहता है यह सफर
कहती है रहगुज़र

दुनिया में तुम कब से हो
घूम किस राह थे चले
आकाश के तले चलते रहे
चलते रहे काम ना हुये
मंज़िल के फैसले
रहो की ठोकर कहती है क्या करे
खुला कोई भी डर नहीं
किसी के दिल में घर नहीं
खुला कोई भी डर नहीं
किसी के दिल में घर नहीं
तुम चले हो कहाँ
कहता है यह सफर
कहती है रहगुज़र.

Kehta Hai Yeh Safar Lyrics in English :

Kehta hai yeh safar
Kehti hai rehguzar
Kehta hai yeh safar
Kehti hai rehguzar
Jamane bhar ke gham liye
Umeed dil mein kam liye
Jamane bhar ke gham liye
Umeed dil mein kam liye
Tum chale ho kaha
Kehta hai yeh safar
Kehti hai rehguzar
Jamane bhar ke gham liye
Umeed dil mein kam liye
Jamane bhar ke gham liye
Umeed dil mein kam liye
Tum chale ho kaha
Kehta hai yeh safar
Kehti hai rehguzar

Dekhu jaha jau jaha
Mil jayeghi waha
Har cheeza ki dukan
Sirf kahi milata nahi zazbat ka nisha
Halka sa bhi nisha begane log hain
Anjane log hain
Tamam shehar mein
Kahi milega pyar hi nahi
Tamam shehar mein
Kahi milega pyar hi nahi
Tum chale ho kaha
Kehta hai yeh safar
Kehti hai rehguzar

Duniya mein tum kab se ho
Ghum kis rah the chale
Aakash ke tale chalte rahe
Chalte rahe kam naa huye
Manzil ke fasale, aise hain fasale
Raho ki thokar kehti hai kya kare
Khula koyi bhi dar nahi
Kisi ke dil mein ghar nahi
Khula koyi bhi dar nahi
Kisi ke dil mein ghar nahi
Tum chale ho kaha
Kehta hai yeh safar
Kehti hai rehguzar.

Leave a Reply

Your email address will not be published.