Khushi Bhi Mili Humko Lyrics in Hindi. ख़ुशी भी मिली हमको song from Bin Badal Barsaat 1963. It stars Asha Parekh, Biswajeet, Nishi. Singer of Khushi Bhi Mili Humko is Lata Mangeshkar. Lyrics are written by Shakeel Badayuni Music is given by Hemanta Kumar Mukhopadhyay

Song Name : Khushi Bhi Mili Humko
Album / Movie : Bin Badal Barsaat 1963
Star Cast : Asha Parekh, Biswajeet, Nishi
Singer : Lata Mangeshkar
Music Director : Hemanta Kumar Mukhopadhyay
Lyrics by : Shakeel Badayuni
Music Label : Saregama

Khushi Bhi Mili Humko Lyrics in Hindi Bin Badal Barsaat 1963

Khushi Bhi Mili Humko Lyrics in Hindi :

रात ख़ामोशी से आती है चली जाती है
जिंदगी दर्द के साँचे में ढाली जाती है
ख़ुशी भी मिली हमको तो गम से भरी
अज़ाब है ये किस्मत की जादूगिरी
ख़ुशी भी मिली हमको तो गम से भरी
अज़ाब है ये किस्मत की जादूगिरी
काली काली काम काली जय काली

खोई खोई आज कल दिल की हर उमंग है
जाने जिंदगी का ये कैसा रंग है
खोई खोई आज कल दिल की हर उमंग है
जाने जिंदगी का ये कैसा रंग है
कभी है अँधेरा कभी रौशनी
ख़ुशी भी मिली हमको तो गम से भरी
अज़ाब है ये किस्मत की जादूगिरी

हसरते बुझी बुझी हौसले थके थके
मिलके भी कीसी से हम मिल नहीं सके
हसरते बुझी बुझी हौसले थके थके
मिलके भी कीसी से हम मिल नहीं सके
खिली न बहारों में दिल की कली
ख़ुशी भी मिली हमको तो गम से भरी
अज़ाब है ये किस्मत की जादूगिरी

प्यार की ख़ुशी हमें मिल सकी न प्यार में
कितने दिन गुजर गए इंतज़ार में
प्यार की ख़ुशी हमें मिल सकी न प्यार में
कितने दिन गुजर गए इंतज़ार में
कहानी हमारी अधूरी रही
ख़ुशी भी मिली हमको तो गम से भरी
अज़ाब है ये किस्मत की जोडगीरी
ख़ुशी भी मिली हमको तो गम से भरी
अज़ाब है ये किस्मत की जोडगीरी.

Khushi Bhi Mili Humko Lyrics in English :

Raat khamoshi se aati hai chali jati hai
Jindagi dard ke sache mein dhali jati hai
Khushi bhi mili hamko to gum se bhari
Azab hai ye kismat ki jadugiri
Khushi bhi mili hamko to gum se bhari
Azab hai ye kismat ki jadugiri
Kali kali kam kali jai kali

Khoi khoi aaj kal dil ki har umang hai
Jane jindagi ka ye kaisa rang hai
Khoi khoi aaj kal dil ki har umang hai
Jane jindagi ka ye kaisa rang hai
Kabhi hai andhera kabhi roshni
Khushi bhi mili hamko to gum se bhari
Azab hai ye kismat ki jadugiri

Hasrate bujhi bujhi hausle thake thake
Milke bhi kiisi se hum mil nahi sake
Hasrate bujhi bujhi hausle thake thake
Milke bhi kiisi se hum mil nahi sake
Khili na baharo me dil ki kali
Khushi bhi mili hamko to gum se bhari
Azab hai ye kismat ki jadugiri

Pyar ki khushi hame mil saki na pyar mein
Kitne din gujar gaye intezar mein
Pyar ki khushi hame mil saki na pyar mein
Kitne din gujar gaye intezar mein
Kahani hamari adhuri rahi
Khushi bhi mili hamko to gum se bhari
Azab hai ye kismat ki jaudgiri
Khushi bhi mili hamko to gum se bhari
Azab hai ye kismat ki jaudgiri.

Leave a Reply

Your email address will not be published.