Mere Mehboob Tere Dam Se Lyrics in Hindi. मेरे मेहबूब तेरे दम से song from Bhai Bhai. It stars Sunil Dutt, Asha Parekh, Mehmood, Pran, Aruna Irani. Singer of Mere Mehboob Tere Dam Se is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Hasrat Jaipuri Music is given by Shankar Singh Raghuvanshi

Song Name : Mere Mehboob Tere Dam Se
Album / Movie : Bhai Bhai
Star Cast : Sunil Dutt, Asha Parekh, Mehmood, Pran, Aruna Irani
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Shankar Singh Raghuvanshi
Lyrics by : Hasrat Jaipuri
Music Label : Saregama

Mere Mehboob Tere Dam Se Lyrics in Hindi :

मेरे मेहबूब तेरे दम से
है दुनिया पे बहार
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
है दुनिया पे बहार
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
मेरे मेहबूब तेरे दम से

अपने गीतों में
तेरा हुस्न नज़र आया है
इस लिए दिल तेरी महफ़िल में
मुझे लाया है
रास्ता भूल गया या
मेरी मंज़िल है यही
रास्ता भूल गया या
मेरी मंज़िल है यही
कोई बतलाए के क्या
खोया है क्या पाया है
मेरे मेहबूब तेरे दम से
है दुनिया में बहार
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
मेरे मेहबूब तेरे दम से

तेरी आँखों में नज़र
आयी है जन्नत मुझको
मेरी जन्नत तेरी
आँखों के सिवा कोई नहीं
मई तसव्वुर में
तेरे झुम लिया करता हूँ
मई तसव्वुर में
तेरे झुम लिया करता हूँ
मेरी दौलत तेरी
चाहत के सिवा कोई नहीं
मेरे मेहबूब तेरे दम से
है दुनिया में बहार
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
मेरे मेहबूब तेरे दम से

ज़िंदगानी में कई
रंग के मोड़ आते है
तू सलामत रहे
शायर की दुआ कहती है
चाँद घटता है घाटे
हुश्ना तेरा बढ़ता रहे
चाँद घटता है घाटे
हुश्ना तेरा बढ़ता रहे
मैं रहूँ या न रहूँ
मेरी वफ़ा ये कहती है
मेरे मेहबूब तेरे दम से
है दुनिया में बहार
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
वरना इस ग़म से भरी
दुनिया में क्या रखा है
मेरे मेहबूब तेरे दम से.

Mere Mehboob Tere Dam Se Lyrics in English :

Mere mehboob tere dum se
Hai duniya pe bahar
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Hai duniya pe bahar
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Mere mehboob tere dum se

Apne gito mein
Teraa husn nazar aaya hai
Iss liye dil teri mehfil mein
Mujhe laya hai
Rasta bhul gaya ya
Meri manzil hai yehi
Rasta bhul gaya ya
Meri manzil hai yehi
Koyi batlaye ke kya
Khoya hai kya paya hai
Mere mehboob tere dum se
Hai duniya mein bahar
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Mere mehboob tere dum se

Teri aankho me nazar
Aayi hai jannat mujhko
Meri jannat teri
Aankho ke siva koyi nahi
Mai tassavvur mein
Tere jhum liya karta hu
Mai tassavvur mein
Tere jhum liya karta hu
Meri daulat teri
Chahat ke siva koyi nahi
Mere mehboob tere dum se
Hai duniya me bahar
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Mere mehboob tere dum se

Zindgani mein kai
Rang ke mod aate hai
Tu salamat rahe
Shayar ki dua kehti hai
Chand ghatata hai ghate
Hushna tera badhta rahe
Chand ghatata hai ghate
Hushna tera badhta rahe
Main rahu ya na rahu
Meri wafa ye kehti hai
Mere mehboob tere dum se
Hai duniya mein bahar
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Warna iss gham se bhari
Duniya mein kya rakha hai
Mere mehboob tere dum se.

Leave a Reply

Your email address will not be published.