Satrah Baras Tak Nahi Suna Lyrics in Hindi. सत्रह बरस तक नहीं सुना song from Barsaat Ki Raat. It stars Deepshika, Dharmendra, Dinesh Hingoo. Singer of Satrah Baras Tak Nahi Suna is Sushma Shrestha (Poornima). Music is given by Laxmikant Shantaram Kudalkar (Laxmikant Pyarelal), Pyarelal Ramprasad Sharma (Laxmikant Pyarelal)

Song Name : Satrah Baras Tak Nahi Suna
Album / Movie : Barsaat Ki Raat
Star Cast : Deepshika, Dharmendra, Dinesh Hingoo
Singer : Sushma Shrestha (Poornima)
Music Director : Laxmikant Shantaram Kudalkar (Laxmikant Pyarelal), Pyarelal Ramprasad Sharma (Laxmikant Pyarelal)
Music Label : Venus Records

Satrah Baras Tak Nahi Suna Lyrics in Hindi :

धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
इसमें नहीं अब कोई शक
इसमें नहीं अब कोई शक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्

सत्रह बरस तक नहीं सुना
मैंने प्रेम का नवो तक
सत्रह बरस तक नहीं सुना
मैंने प्रेम का नवो तक
हो लग गया हाय लग गया
हुई लग गया लग गया लग गया
हो लग गया प्रेम का रोग मुझे
लग गया प्रेम का रोग मुझे
सर से लेके पाँव तक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
इसमें नहीं अब कोई शक
सत्रह बरस तक नहीं सुना
मैंने प्रेम का नवो तक
हो लग गया हाय लग गया
हुई लग गया लग गया लग गया
लग गया प्रेम का रोग मुझे
सर से लेके पाँव तक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्

डर के मैं शरमा गयी
शर्मा के घबरा गयी
डर के मैं शरमा गयी
शर्मा के घबरा गयी
हो घबरा के घबराहट में
घबरा के घबराहट में
उससे मैं टकरा गयी
परदेशी ने पूछ लिया
परदेशी ने पूछ लिया
मुझसे मेरा नवो तक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
सत्रह बरस तक नहीं सुना
मैंने प्रेम का नवो तक

आँखों से इकरार किया
होठों से इंकार किया
आँखों से इकरार किया
होठों से इंकार किया
चोरी से मैंने तुमसे
चुपके चुपके प्यार किया
बात न जाने ये कैसे
बात न जाने ये कैसे
पहुंची पुरे गाँव तक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
सत्रह बरस तक नहीं सुना
मैंने प्रेम का नवो तक

मुझको नींद नहीं आयी पूरे एक महीने से
मुझको नींद नहीं आयी पूरे एक महीने से
इतने जोर की सर्दी में
मैं भीगी जाउ पसीने से
धुप मुझे तो लगती है
धुप मुझे तो लगती है
अब पीपल की छाँव तक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
है इसमें नहीं अब कोई शक
सत्रह बरस तक नहीं सुना
मैंने प्रेम का नवो तक
हो लग गया हाय लग गया
हुई लग गया लग गया लग गया
हो लग गया प्रेम का रोग मुझे
लग गया प्रेम का रोग मुझे
सर से लेके पाँव तक
धक् धक् दिल करे धक् धक् धक्
इसमें नहीं अब कोई शक.

Satrah Baras Tak Nahi Suna Lyrics in English :

Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Isme nahi ab koi shak
Isme nahi ab koi shak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak

Satrah baras tak nahi suna
Maine prem ka navo tak
Satrah baras tak nahi suna
Maine prem ka navo tak
Ho lag gaya haye lag gaya
Hui lag gaya lag gaya lag gaya
Ho lag gaya prem ka rog mujhe
Lag gaya prem ka rog mujhe
Sar se leke paanv tak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Isme nahi ab koi shak
Satrah baras tak nahi suna
Maine prem ka navo tak
Ho lag gaya haye lag gaya
Hui lag gaya lag gaya lag gaya
Lag gaya prem ka rog mujhe
Sar se leke paanv tak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak

Darr ke main sharma gayi
Sharma ke ghabara gayi
Darr ke main sharma gayi
Sharma ke ghabara gayi
Ho ghabara ke ghabrahat me
Ghabara ke ghabrahat me
Usse main takara gayi
Pardeshi ne puchh liya
Pardeshi ne puchh liya
Mujhse mera navo tak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Satrah baras tak nahi suna
Maine prem ka navo tak

Aankhon se ikarar kiya
Hothon se inkar kiya
Aankhon se ikarar kiya
Hothon se inkar kiya
Chori se maine tumse
Chupke chupke pyar kiya
Baat na jane ye kaise
Baat na jane ye kaise
Pahunchi pure gaon tak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Satrah baras tak nahi suna
Maine prem ka navo tak

Mujhko neend nahi aayi pure ek mahine se
Mujhko neend nahi aayi pure ek mahine se
Itane jor ki sardi mein
Main bhigi jaau pasine se
Dhoop mujhe to lagti hai
Dhoop mujhe to lagti hai
Ab pipal ki chhanv tak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Ha isme nahi ab koi shak
Satrah baras tak nahi suna
Maine prem ka navo tak
Ho lag gaya haye lag gaya
Hui lag gaya lag gaya lag gaya
Ho lag gaya prem ka rog mujhe
Lag gaya prem ka rog mujhe
Sar se leke paanv tak
Dhak dhak dil kare dhak dhak dhak
Isme nahi ab koi shak.

Leave a Reply

Your email address will not be published.