Yeh Saal Ki Aakhri Lyrics in Hindi. यह साल की आखरी song from Be Reham 1980. It stars Brahm Bhardwaj, Urmila Bhatt, Moushumi Chatterjee, Helen, Sanjeev Kumar. Singer of Yeh Saal Ki Aakhri is Anuradha Paudwal, Chandrani Mukherjee, Shailendra Singh. Lyrics are written by Verma Malik Music is given by Laxmikant Shantaram Kudalkar (Laxmikant Pyarelal), Pyarelal Ramprasad Sharma (Laxmikant Pyarelal)

Song Name : Yeh Saal Ki Aakhri
Album / Movie : Be Reham 1980
Star Cast : Brahm Bhardwaj, Urmila Bhatt, Moushumi Chatterjee, Helen, Sanjeev Kumar
Singer : Anuradha Paudwal, Chandrani Mukherjee, Shailendra Singh
Music Director : Laxmikant Shantaram Kudalkar (Laxmikant Pyarelal), Pyarelal Ramprasad Sharma (Laxmikant Pyarelal)
Lyrics by : Verma Malik
Music Label : Saregama

Yeh Saal Ki Aakhri Lyrics in Hindi Be Reham 1980

Yeh Saal Ki Aakhri Lyrics in Hindi :

दो रे में फ सो ल ति दो
दो ती ल सो फ में रे दो
दो ती ल सो फ में रे दो
ये साल की आखरी रात है
ज़रा समझने वाली बात है
तू कल की कल पे छोड़ दे
वो गुज़रे साल की बात है
वो गुज़रे साल की बात है
वो गुज़रे साल की बात है
ऐ ऐ ऐ
दो रे में फ सो ल ति दो
ये साल की आखरी रात है
ज़रा समझने वाली बात है
तू कल की कल पे छोड़ दे
वो गुज़रे साल की बात है
वो गुज़रे साल की बात है
वो गुज़रे साल की बात है
ऐ ऐ ऐ
दो ती ल सो फ में रे दो

आने वाले की ख़ुशी में
ऐ ऐ
तू जाने वाले को भूल
आने वाले की ख़ुशी में
ऐ ऐ
तू जाने वाले को भूल
ज़ख्म चाहे तुझको मिलें हों
चाहे मिले हों फूल
गुज़र गया जो साल वो
यादों की बरात है
यादों की बरात है
दो रे में फ सो ल ति दो
ये साल की आखरी रात है
ज़रा समझने वाली बात है
तू कल की कल पे छोड़ दे
वो गुज़रे साल की बात है
वो गुज़रे साल की बात है
वो गुज़रे साल की बात है
ऐ ऐ ऐ
दो ती ल सो फ में रे दो

दो रे में फ सो ल ति दो
नए साल की पहली रात है
ज़रा समझने वाली बात है
आजा मुहब्बत बाँट लें
ये कुदरत की सौगात है
ये कुदरत की सौगात है
ये कुदरत की सौगात है
रु रु रु
अगर सुनहरी मौक़ा
आज भी खो जाएगा
इक साल जवानी का
और कम हो जाएगा
अगर सुनहरी मौक़ा
आज भी खो जाएगा
इक साल जवानी का
और कम हो जाएगा
हमसफ़र कोई
मिल जाये तो
हर रात तेरी शबरात है
ऐ ऐ ऐ
दो रे में फ सो ल ति दो
नए साल की पहली रात है
ज़रा समझने वाली बात है
आजा मुहब्बत बाँट लें
ये कुदरत की सौगात है
ये कुदरत की सौगात है
ये कुदरत की सौगात है
ऐ ऐ ऐ
दो रे में फ सो ल ति दो
ये साल की आखरी रात है
ज़रा समझने वाली बात है
तू कल की कल पे छोड़ दे
ये कुदरत की सौगात है
ये कुदरत की सौगात है
ये कुदरत की सौगात है.

Yeh Saal Ki Aakhri Lyrics in English :

Do re me fa so la ti do
Do ti la so fa me re do
Do ti la so fa me re do
Ye saal ki aakhri raat hai
Zara samajhne waali baat hai
Tu kal ki kal pe chhod de
Wo guzre saal ki baat hai
Wo guzre saal ki baat hai
Wo guzre saal ki baat hai
Ae ae ae
Do re me fa so la ti do
Ye saal ki aakhri raat hai
Zara samajhne waali baat hai
Tu kal ki kal pe chhod de
Wo guzre saal ki baat hai
Wo guzre saal ki baat hai
Wo guzre saal ki baat hai
Ae ae ae
Do ti la so fa me re do

Aane waale ki khushi mein
Ae ae
Tu jaane waale ko bhool
Aane waale ki khushi mein
Ae ae
Tu jaane waale ko bhool
Zakhm chaahe tujhko milen hon
Chaahe miley hon phool
Guzar gaya jo saal wo
Yaadon ki baaraat hai
Yaadon ki baaraat hai
Do re me fa so la ti do
Ye saal ki aakhri raat hai
Zara samajhne waali baat hai
Tu kal ki kal pe chhod de
Wo guzre saal ki baat hai
Wo guzre saal ki baat hai
Wo guzre saal ki baat hai
Ae ae ae
Do ti la so fa me re do

Do re me fa so la ti do
Naye saal ki pehli raat hai
Zara samajhne waali baat hai
Aaja muhabbat baant len
Ye kudrat ki saugaat hai
Ye kudrat ki saugaat hai
Ye kudrat ki saugaat hai
Ru ru ru
Agar sunehri mauqa
Aaj bhi kho jaayegaa
Ik saal jawaani ka
Aur kam ho jaayegaa
Agar sunehri mauqa
Aaj bhi kho jaayegaa
Ik saal jawaani ka
Aur kam ho jaayegaa
Hamsafar koi
Mil jaaaye to
Har raat teri shabraat hai
Ae ae ae
Do re me fa so la ti do
Naye saal ki pehli raat hai
Zara samajhne waali baat hai
Aaja muhabbat baant len
Ye kudrat ki saugaat hai
Ye kudrat ki saugaat hai
Ye kudrat ki saugaat hai
Ae ae ae
Do re me fa so la ti do
Ye saal ki aakhri raat hai
Zara samajhne waali baat hai
Tu kal ki kal pe chhod de
Ye kudrat ki saugaat hai
Ye kudrat ki saugaat hai
Ye kudrat ki saugaat hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published.