Title : ऐ फूलों की रानी
Movie/Album/Film: आरज़ू -1965
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics : हसरत जयपुरी
Singer(s): मो.रफ़ी

ऐ फूलों की रानी, बहारों की मलिका
तेरा मुस्कुराना, गज़ब हो गया
न दिल होश में है, न हम होश में हैं
नज़र का मिलाना, गज़ब हो गया

तेरे होंठ क्या हैं, गुलाबी कंवल हैं
ये दो पत्तियां प्यार की इक गज़ल है
वो नाज़ुक लबों से मुहब्बत की बातें
हमीं को सुनाना गज़ब हो गया
ऐ फूलों की रानी…

कभी खुल के मिलना, कभी खुद झिझकना
कभी रास्तों पर बहकना-मचलना
ये पलकों की चिलमन, उठाकर गिराना
गिराकर उठाना, गज़ब हो गया
ऐ फूलों की रानी…

फ़िज़ाओं में ठंडक, घटा पर जवानी
तेरे गेसुओं की बड़ी मेहरबानी
हर इक पेंच में, सैकड़ों मैकदे हैं
तेरा लड़खड़ाना गज़ब हो गया
ऐ फूलों की रानी…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *