Title : अलबेली नार प्रीतम द्वारे
Movie/Album/Film: मैं शादी करने चला -1962
Music By: चित्रगुप्त
Lyrics : मजरूह सुल्तानपुरी
Singer(s): मन्ना डे

अलबेली नार प्रीतम द्वारे
खड़ी घूँघट खोले रस अंखियों में घोले
मुस्कान भरे, चुपके-चुपके वो निहारे
अलबेली नार प्रीतम…

तराना:
ग म, प प प प, ध ध ध ध, नी नी, नी ध प म ग रे सा
सां सां नी सां नी रें सां रें सां, नी रें सां रें सां, नी रें सां रें सां रें सां नी ध प म ग रे सा
सा सा, सां सां सां सां, सा सा, सां सां सां सां, सा सा, सां सां सां सां

नैना झुके-झुके मस्ती में झूले
और उठे तो जिया तक छू ले
देखो रे देखो कोई सांवरी कैसा जादू करे
चुपके-चुपके…

लागे ऐसे में अजब मतवारी
हिरनी जैसे हो प्यास की मारी
देखो तो ऐसी लागे बावरी
जैसे प्यार करे
चुपके-चुपके…

See also  Ye Dil Aur Unki Lyrics-Lata Mangeshkar, Prem Parbat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *