Title- चाँद अकेला जाये
Movie/Album- आलाप Lyrics-1977
Music By- जयदेव
Lyrics- राही मासूम रज़ा
Singer(s)- येसुदास

चाँद अकेला जाये सखी री
काहे अकेला जाये सखी री
मन मोरा घबराये री
सखी री, सखी री, ओ सखी री
चाँद अकेला जाए…

वो बैरागी वो मनभावन
कब आयेगा मोरे आँगन
इतना तो बतलाये री
सखी री, सखी री, ओ सखी री
चाँद अकेला जाए…

अंग अंग में होली दहके
मन में बेला चमेली महके
ये ऋतु क्या कहलाये री
भाभी री, भाभी री, ओ भाभी री
चाँद अकेला जाये…

See also  Dream Girl Lyrics-Kishore Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *