Title- माई री मैं कासे कहूँ
Movie/Album- दस्तक Lyrics-1970
Music By- मदन मोहन
Lyrics- मजरूह सुल्तानपुरी
Singer(s)- लता मंगेशकर, मदन मोहन

माई री मैं कासे कहूँ पीर अपने जिया की
माई री…

पी की डगर मैं बैठे मैला हुआ री मेरा आंचरा
मुखड़ा है फीका-फीका नैनों में सोहे नहीं काजरा
कोई जो देखे वैया प्रीत का वासे कहूँ माजरा
पी की डगर मैं बैठे मैला हुआ री मेरा आंचरा
लट में पड़ी कैसी बिरहा की माटी
माई री मैं कासे…

आँखों में चलते फिरते रोज़ मिले पिया बावरे
बैयाँ की छैयां आके मिलते नहीं कभी सांवरे
दुःख ये मिलन का लेके काह करूँ कहाँ जाऊं रे
आँखों में चलते फिरते रोज़ मिले पिया बावरे
पाकर भी नहीं उनको मैं पाती
माई री मैं कासे…

ओस नयन की उनके मेरी लगी को बुझाए ना
तन मन भीगो दे आके ऐसी घटा कोई छाये ना
मोहे बहा ले जाए ऎसी लहर कोई आये ना
ओस नयन की उनके मेरी लगी को बुझाए ना
पड़ी नदिया के किनारे मैं प्यासी
माई री मैं कासे…

See also  Jab Tak Rahe Tan Mein Jiya Lyrics-Asha Bhosle, Samadhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *