Man Re Hari Ke Gun Ga Lyrics

Man Re Hari Ke Gun Ga Lyrics-Lata Mangeshkar, Musafir

Title : मन रे हरि के गुण गा
Movie/Album: मुसाफ़िर (1957)
Music By: सलील चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर

हरि के गुण गा, मन रे
मन रे, हरि के गुण गा
उन संग प्रीत लगा, मन रे
मन रे, हरि के गुण गा…

जिनके जपे अहिल्या तर गई
भवसागर से पार उतर गई
सन्मुख सीस झुका, मन रे
मन रे, हरि के गुण गा…

जिनके जपे अमर भई मीरा
नाम उजागर कर गई मीरा
लौ उनसे ही लगा, मन रे
मन रे, हरि के गुण गा…

कभी तो राम ख़बरिया लेंगे
तेरे भी दुःख दूर करेंगे
दुःख से मत घबरा, मन रे
मन रे, हरि के गुण गा…

Leave a Comment

Your email address will not be published.