Title : संग बसंती, अंग बसंती
Movie/Album/Film: राजा और रंक -1968
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics : आनंद बक्षी
Singer(s): मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

संग बसंती, अंग बसंती, रंग बसंती छा गया
मस्ताना मौसम आ गया
संग बसंती, अंग बसंती…

धरती का है आँचल पीला
झूमे अम्बर नीला-नीला
सब रंगों से है रंगीला
रंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती…

लहराए ये तेरा आँचल
सावन के झूलों जैसा
दिल मेरा ले गया है
ये तेरा रूप गोरी
सरसों के फूलों जैसा
जब देखूँ जी चाहे मेरा
नाम बसंती रख दूँ तेरा
छोड़ो-छेड़ो ना
तेरी बातें राम दुहाई
मनवा लूटा, नींद चुराई
सैंया तेरी प्रीत से आई
तंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती…

सुन लो देशवासियों
आज से इस देश में
छोटा-बड़ा कोई न होगा
सारे एक समान होंगे
सुन लो देशवासियों
कोई न होगा भूखा-प्यासा
पूरी होगी सबकी आशा
हम हैं राजा
तुम हो कौन नगर के राजे
छोटा मुँह बड़ी बात न साजे
झूमो नाचो गाओ बाजे
चंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती…

See also  Phoolon Ka Taaron Ka Lyrics-Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Hare Rama Hare Krishna

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *