Title- ये दिल और उनकी
Movie/Album- प्रेम परबत Lyrics-1973
Music By- जयदेव
Lyrics- जाँ निसार अख़्तर
Singer(s)- लता मंगेशकर

ये दिल और उनकी निगाहों के साये
मुझे घेर लेते हैं बाँहों के साये

पहाड़ों को चंचल किरन चूमती है
हवा हर नदी का बदन चूमती है
यहाँ से वहाँ तक, हैं चाहों के साये
ये दिल और…

लिपटते ये पेड़ों से बादल घनेरे
ये पल-पल उजाले, ये पल-पल अंधेरे
बहुत ठंडे-ठंडे, हैं राहों के साये
ये दिल और…

धड़कते हैं दिल कितनी आज़ादियों से
बहुत मिलते-जुलते हैं इन वादियों से
मुहब्बत की रंगीं, पनाहों के साये
ये दिल और…

See also  Aaj Kal Paanv Zameen Par Lyrics-Lata Mangeshkar, Ghar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *