Zindagi Hai Zinda Lyrics-Geeta Dutt, Munimji

Title : ज़िन्दगी है ज़िंदा
Movie/Album: मुनीमजी (1955)
Music By: सचिन देव बर्मन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: गीता दत्त

अरे हो इक तरफ हसीं जलवे हैं
इक तरफ जवानी
ज़िन्दगी है ज़िंदा (शब्बा), ज़िन्दगी है ज़िन्दा (शब्बा)
इक है फ़साना तेरा इक मेरी कहानी
ज़िन्दगी है ज़िंदा (शब्बा)…

ज़िन्दगी है ज़िंदा आओ ज़िन्दगी से खेलें
कोई हमसे खेले आखिर हम किसी से खेलें
अरे हो ये ख़ुशी की रातें जा के फिर नहीं है आनी
ज़िन्दगी है ज़िंदा…

सोने जैसे हैं ये दिन और चांदी जैसी रातें
आँखों के इशारो में है लाखों की सौगातें
अरे हो, जाने वाले मेहमानों से मांग ले निशानी
ज़िन्दगी है ज़िंदा…

दिल लगी में क्या रखा हैं
दिल लगा के देखो, ए जी दिल लगा के देखो
दूर जा के क्या पाओगे पास आ के देखो
ए जी पास आ के देखो
ए जी दिल लगा कर देखो
अरे हो, दिल उसी के काम आएगा
जिसने दिल की मानी
ज़िन्दगी है ज़िंदा…

See also  Ek Akela Is Sheher Mein Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *