Title~ अकेले तन्हा Lyrics
Movie/Album~ डार्लिंग Lyrics 2007
Music~ प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics~ समीर
Singer(s)~ तुलसी कुमार

अकेले तन्हा, जीया न जाए तेरे बिन
भुलाना तुझको
भुलाना तुझको नामुमकिन
अकेले तन्हा…
सुलगती हैं मेरी रातें
सुलगते हैं मेरे पलछिन
सुलगते दिन
अकेले तन्हा…

मुझे तन्हाइयाँ दे के, मेरा जीना किया मुश्किल
तेरे सदमे के सदमों से, तड़पता है बेचारा दिल
तेरे सारे गुनाहों की, सनम तुझको सज़ा दूँगी
मोहब्बत की तड़प क्या है, तुझे भी मैं बता दूँगी
सुलगती है मेरी रातें…

बरसती हैं मेरी आँखें, अकेलेपन में रोती हूँ
तुझे ही याद करती हूँ, सुकूँ से मैं न सोती हूँ
दिया क्या खूब ये तूने, सिला मेरी वफ़ाओं का
तुझे इक रोज़ मैं दूँगी, सिला तेरी जफ़ाओं का
सुलगती है मेरी रातें…

See also  Gurus Of Peace Lyrics- Chanda Suraj Laakhon Taare Lyrics- AR Rehman, NF Ali Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *