Title : अँधियारा गहराया Lyrics
Movie/ Album- सारांश Lyrics-1984
Music By- अजित वर्मन
Lyrics- वसंत देव
Singer(s)- भूपिंदर सिंह

अँधियारा गहराया, सूनापन घिर आया
घबराया मन मेरा, चरणों में आया

क्यूँ हो तुम, यूँ गुमसुम
किरणों को आने दो
पत्थर की फाँकों से
करुणा को झरने दो
अँधियारा गहराया…

पत्तों-तिनकों का बना था घर मेरा
ढह गया, बह गया, अब कहाँ बसेरा
भीगा है मन पाखी, अंजुली में पलने दो
अँधियारा गहराया…

ये उदासी अगर छायी है मेरे लिए
पीर की राह भी है बनी मेरे लिए
सह लूँ मैं हर जलन, चन्दन वो बनने दो
अँधियारा गहराया…

See also  Sansar Se Bhage Firte Ho Lyrics-Lata Mangeshkar, Chitralekha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *